News

मनोज तिवारी पर तिरंगे के अपमान का आरोप, गाड़ी पर तिरंगा बिछाकर बैठने का मामला

Last Modified - March 16, 2018, 2:03 pm

नई दिल्ली। बीजेपी सांसद और दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। तिरंगे के अपमान को लेकर ग्वालियर जिला अदालत में एक अधिवक्ता की ओर से मनोज तिवारी के खिलाफ एक निजी परिवाद पत्र दाखिल किया गया था।

ये भी पढ़ेें-सरकारी नौकरी में सलेक्टेड लोगों को पहले 5 साल सेना में देनी होगी सर्विस

 

ये भी पढ़ें- 'भांजों' की मुराद पूरी करेंगे 'मामा'? हड़ताल पर ढाई लाख संविदा कर्मचारी

इस मामले में ग्वालियर पुलिस ने स्वीकार कर लिया है, कि तिरंगे का अपमान हुआ था। साथ ही दिल्ली में जिस स्थान पर मनोज तिवारी की ओर से 26 जनवरी को यात्रा निकाली गयी थी, उसके लिए ग्वालियर SP ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को खत लिखा है, जिसमें ये पूछा गया है कि बीजेपी सांसद की ओर से ये यात्रा कौन से स्थान पर निकाली गयी थी।

 

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान ने भारत से वापस बुलाया अपना उच्चायुक्त, भारत ने पाक स्थित दूतावास को जारी की एडवाइजरी

अब इस मामले की सुनवाई आने वाली 27 मार्च को होगी। बता दें कि इसके पहले की सुनवाई में कोर्ट ने महाराजपुरा थाना पुलिस से जवाब मांगा था कि वो बताए कि तिरंगे का अपमान हुआ था या नहीं। जिस पर पुलिस ने तिरंगे के अपमान की बात मानी है। केस में लगी याचिका में मनोज तिवारी की तिरंगा यात्रा के दौरान गाड़ी पर तिरंगा बिछाकर उस पर बैठने पर राष्ट्रीय ध्वज के अपमान का आरोप लगाया है।

 

वेब डेस्क, IBC24

 

 

Trending News

Related News