News

लोक सुराज अभियान में बना नया कीर्तिमान एक दिन में एक साथ ग्यारह सौ शादियां

Last Modified - March 19, 2018, 1:23 pm

रायपुर- प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान के तहत आज छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले के मुख्यालय जगदलपुर में एक दिन में एक साथ ग्यारह सौ शादियों का एक नया कीर्तिमान बनाया गया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शाम को बस्तर जिले के मुख्यालय जगदलपुर में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में गरीब परिवारों की ग्यारह सौ बेटियों की शादी में शामिल होकर सभी जोड़ों को आशीर्वाद प्रदान किया। उन्होंने वर-वधुओं को उनके खुशहाल गृहस्थ जीवन के लिए अपनी शुभकामनाएं दी। समारोह का आयोजन मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग से किया गया।    डॉ. रमन सिंह ने लालबाग मैदान में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा- प्रदेश में लोक सुराज अभियान के तहत लोगों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है। 

 

 चैत्र नवरात्रि तथा भारतीय नववर्ष विक्रम संवत 2075 के शुभारंभ के दिन गरीब परिवारों की ग्यारह सौ बेटियों के लिए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत इस विशाल सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन वास्तव में एक बड़ा पुण्य का कार्य है। मुख्यमंत्री ने कहा-विवाह सिर्फ एक मिलन उत्सव नहीं, बल्कि गृहस्थ जीवन में प्रवेश के साथ अपनी पारिवारिक और सामाजिक जिम्मेदारियों के निर्वहन का भी एक संकल्प है। मुख्यमंत्री ने सभी नव-दम्पत्तियों को आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में अब सभी परिवारों के घर बिजली से रौशन होंगे। राज्य सरकार समस्त विद्युत विहीन घरों को जून माह तक बिजली का कनेक्शन देने के लिए विशेष अभियान चला रही है। सभी घरों में पक्के शौचालयों का निर्माण किया जा रहा है। लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप और विधायक श्री संतोष बाफना ने भी नवदंपत्तियों को आशीर्वाद प्रदान करते हुए शुभकामनाएं दी।

     समारोह में आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, राज्य औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, राज्य युवा आयोग के अध्यक्ष श्री कमलचंद भंजदेव, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी और जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जबिता मंडावी सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में नागरिक इस मौके पर उपस्थित थे। संभागीय कमिश्नर श्री दिलीप वासनीकर तथा कलेक्टर श्री धनंजय देवांगन और प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी कार्यक्रम में मौजूद थे। समारोह में महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न परियोजनाओं के गांवों से चयनित कन्याओं के विवाह उनके अपने रीति-रिवाजों के अनुसार संपन्न हुए। इनमें से तोकापाल परियोजना की 115, जगदलपुर शहरी परियोजना की 80, जगदलपुर ग्रामीण परियोजना की 150, बकावण्ड की दोनों परियोजनाओं से 181, दरभा परियोजना की 165, लोहाण्डीगुड़ा परियोजना की 143, बास्तानार परियोजना की 87 और बस्तर परियोजना की 179 कन्याएं शामिल हैं। बस्तर जिले में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत इन्हें मिलाकर अब 8647 जोड़ों के विवाह संपन्न हो चुके हैं।

web team IBC24

Trending News

Related News