News

हिचकी मूवी रिव्यू

Created at - March 27, 2018, 7:01 pm
Modified at - March 27, 2018, 7:01 pm

हमारी रेटिंग 4  / 5

पाठकों की रेटिंग 3.5 / 5

 प्रेरणा देने वाले अपने टीचर मिस्टर खान से प्रेरित फिल्म 'हिचकी' की नैना माथुर (रानी मुखर्जी) की जिंदगी की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। नैना टॉरेट सिंड्रोम से पीड़ित है, जिस वजह से उसे बार-बार हिचकी आती है। इसी वजह से उसे बचपन में 12 स्कूल बदलने पड़े। पिछले 5 सालों में 18 स्कूलों से रिजेक्ट होने के बाद भी वह टीचिंग में करियर बनाना चाहती है।

कई बार नकारे जाने के बाद आखिरकार नैना को अपने ही स्कूल में शिक्षा के अधिकार के तहत दाखिल हुए गरीब बच्चों को पढ़ाने का चैलेंज मिलता है। शुरुआत में नैना को उन बच्चों को पढ़ाने में तमाम दिक्कतें आती हैं। बच्चे भी नैना की जमकर हूटिंग करते हैं। नैना उन बच्चों को सुधारने में कामयाब होती है या नहीं, यह तो आपको सिनेमा जाकर ही पता लगेगा, लेकिन इतना तय है कि इस तरह की फिल्में समाज में टॉरेट सिंड्रोम जैसी बीमारियों को लेकर जागरूकता लाने का काम करती हैं, जिन्हें आमतौर पर हम हंसी में उड़ा देते हैं। 

 

इस फिल्म में रानी का किरदार अमेरिकन मोटिवेशनल स्पीकर और टीचर ब्रैड कोहेन से प्रेरित है, जो कि टॉरेट सिंड्रोम के चलते तमाम परेशानियां झेलकर भी कामयाब टीचर बने। उन्होंने अपनी लाइफ पर एक किताब लिखी, जिस पर 2008 में फ्रंट ऑफ द क्लास नाम से अमेरिकन फिल्म भी आई। 'हिचकी' इसी फिल्म पर आधारित है। रानी की पिछली फिल्म 'मर्दानी' आदित्य चोपड़ा से शादी के बाद 2014 में आई थी। इस फिल्म में भी रानी की ऐक्टिंग को काफी पसंद किया गया था। अपनी बेटी अदिरा के जन्म के चलते 4 साल के लंबे गैप के बाद रानी ने सिल्वर स्क्रीन पर वापसी के लिए एक मजबूत कहानी पर बनी 'हिचकी' जैसी फिल्म चुनी है। 

 

 

रानी ने अपने किरदार के साथ पूरी तरह न्याय भी किया। उन्होंने टॉरेट सिंड्रोम से पीड़ित नैना माथुर के रोल को पूरी तरह जिया है। साथी कलाकारों के आवश्यक सहयोग के बावजूद फिल्म को रानी पूरी तरह अपने कंधों लेकर चलती हैं और यह पूरी तरह उनकी फिल्म है। ब्लैक जैसी दमदार फिल्म कर चुकी रानी ने दिखा दिया कि वह इमोशनल रोल को पूरे दमखम के साथ कर सकती हैं। वहीं फिल्म के डायरेक्टर सिद्धार्थ पी. मल्होत्रा ने इस इमोशनल स्टोरी को खूबसूरती से पर्दे पर उतारा है। खासकर वह आपको शुरुआत से लेकर आखिर तक बांधे रखते हैं। इसके अलावा फिल्म का क्लाइमैक्स भी दमदार है।फिल्म के गाने कहानी से मैच करते हैं। अगर आप रानी के फैन हैं और कुछ लीक से हटकर देखना चाहते हैं, तो इस वीकेंड आपको यह फिल्म मिस नहीं करनी चाहिए। .

 

वेब टीम IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News