रायपुर News

संविलियन की तो छोड़िए शिक्षाकर्मियों के टैक्स की रकम में गड़बड़ी, बुरे फंसे! 

Created at - April 5, 2018, 4:18 pm
Modified at - April 5, 2018, 5:14 pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मी संविलियन नहीं होने से सरकार से नाखुश हैं। ऐसे में उनके टैक्स की रकम में 16 करोड़ की गड़बड़ी ने नींद उड़ा दी है। संघ के अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा है कि शिक्षाकर्मियों से इनकम टैक्स तो वसूल लिया गया, लेकिन आयकर विभाग के बजाए अफसरों की जेबों में चली गई है। कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने भी इस मसले पर सरकार को आड़े हाथों लिया है। 

 

 

ये भी पढ़ें-शिवराज का 'बाबा' प्रेम, पांच बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा

मोर्चा के प्रदेश संचालक संजय शर्मा के मुताबिक शिक्षाकर्मियों के टैक्स की रकम में 16 करोड़ की गड़बड़ी हुई है। उनके मुताबिक जो शिक्षाकर्मी टैक्स के दायरे में आते हैं, उनका टैक्स तो काट लिया गया, लेकिन अधिकारियों ने शिक्षाकर्मियों के बजाए अपना पैन कार्ड दर्ज करवा दिया। जिसके कारण टैक्स रिफंड उनके खातों में जाने की बजाए अफसरों के खातों में जमा हो गया।

 

ये भी पढ़ें- जोधपुर कोर्ट का फैसला: सलमान खान को पांच साल की कैद, 10 हजार का जुर्माना

लापरवाही के कारण आयकर विभाग को चालान द्वारा राशि नहीं भेजी गई।  और ना ही टीडीएस रिटर्न फाइल किया गया।  जिसका खामियाजा अब शिक्षाकर्मियो को ब्याज के रूप में चुकाना पड़ रहा है। भूपेश बघेल ने शिक्षाकर्मियों को लेकर सरकार पर आरोप लगाया है कि प्रदेश सरकार पहले तो शिक्षाकर्मियों को तय समय पर वेतन नहीं दे रही और अब उनके टैक्सेशन में गड़बड़ी कर रही है।

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News