News

राजघाट पर कांग्रेस का एक दिनी उपवास, राहुल के पहुंचने से पहले मंच पर विवाद

Last Modified - April 9, 2018, 3:56 pm

नई दिल्ली। दलितों पर अत्याचार, केंद्र सरकार की नाकामी और संसद की कार्यवाही ठप होने के खिलाफ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने सोमवार को राजघाट पर एक दिनी देशव्यापी अनशन की शुरूआत की। कांग्रेस संगठन की ओर से इस अनशन को देशव्यापी बनाने के लिए, पार्टी के सभी प्रदेश अध्यक्षों, एआईसीसी महासचिवों-प्रभारियों और विधायक दल के नेताओं को निर्देशित किया गया था।

यह भी पढ़ें - कांग्रेसियो ने रखा एक दिन का उपवास ,बीजेपी ने कहा नौटंकी

सूत्रों के हवाले से पता चला कि इस अनशन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एडवाजरी जारी की थी। सांप्रदायिक सौहार्द को बचाने के नाम पर किए गए इस अनशन में शामिल होने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी दिल्ली के राजघाट पर पहुंचे। लेकिन राहुल के मंच पर पहुंचने से पहले ही एक नए विवाद ने जन्म ले लिया। दरअसल मंच पर उस समय माहौल गर्मा गया जब राहुल के आने से पहले कांग्रेस नेता जगदीश टाईटलर और सज्जन कुमार मंच पर पहुंच गए। हांलाकि जगदीश टाईटलर ने सभी बातों को अफवाह बताते हुए कहा कि वे बेगुनाह है और सीबीआई उन्हे क्लीन चीट दे चुकी है।

यह भी पढ़ें - स्कूली बच्चों से भरी आॅटो दुर्घटनाग्रस्त, कई बच्चे घायल

आपको बता दें कि बीते दिनों एसटी-एससी एक्ट में बदलाव करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाखुश पिछड़ा वर्ग ने भारत बंद का आहवान किया था जिस दौरान बड़े स्तर पर हिंसा हुई। इसके ठीक बाद से ही कांग्रेस ने दलित उत्पीडन को मुद्दा बनाकर देशभर में प्रचारित करना शुरू कर दिया। वैसे 12 तारीख को भाजपा संसद भी उपवास पर बैठने वाले है बताया जा रहा कि भाजपा दल को यह आदेश खुद नरेंद्र मोदी ने दिए है। भाजपा विपक्ष पर संसद की कार्यवाही ठप करने के आरोप लगाकर उपवास करने वाली है।  

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News