News

मुस्लिम समुदाय ने नहीं तोड़ा 'राम मंदिर' बनाने के लिए बनना होगा राम - भागवत

Last Modified - April 16, 2018, 10:41 am

मुंबई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि यदि अयोध्या में राम मंदिर फिर से नहीं बनाया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी। इसमें कोई शक नहीं कि मंदिर वहीं बनाया जाएगा जहां वो पहले था। पालघर जिले के दहानू में आयोजित विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने ये बात कही। उन्होंने कहा कि भारत में मुस्लिम समुदाय ने राम मंदिर नहीं तोड़ा। भारतीय नागरिक ऐसी चीजें नहीं कर सकते। भारतीयों का मनोबल तोड़ने के लिए विदेशी ताकतों ने मंदिरों को तोड़ा। उन्होंने कहा लेकिन आज हम आजाद हैं और हमें उसे फिर से बनाने का अधिकार है, जिसे नष्ट किया गया था, क्योंकि वे सिर्फ मंदिर नहीं थे बल्कि हमारी पहचान के प्रतीक थे।

देखें - 

आपको बता दें कि हालही में मोहन भागवन ने मध्यप्रदेश के मऊसहानियां महाराजा छत्रसाल की 52 फुट ऊंची प्रतिमा के अनावरण समारोह में भी मोहन भागवत ने कहा था कि राम मंदिर का निर्माण इच्छा नहीं, संकल्प है। इसी के साथ उन्होंने एक प्रशन भी खड़ कर दिया उन्होंने कहा यह समय राम मंदिर निर्माण के लिए सबसे उचित समय है, लेकिन राम मंदिर बनाने वालों को राम जैसा बनना पड़ेगा, तभी यह काम किया जा सकता है। इसी के साथ उन्होंने मंदिर निर्माण के समय पर सवाल भी खड़ा करते हुए कहा कि मंदिर निर्माण कब होगा यही मूल सवाल है ? इस निमित्त हमें अपने आप को तैयार करना होगा।

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News