News

मंत्री गोपाल भार्गव के बयान पर बवाल, आरक्षण प्रतिभा का मजाक 

Last Modified - April 16, 2018, 1:24 pm

रायपुर। नरसिंहपुर में परशुराम जन्मोत्सव के कार्यक्रम में मंत्री गोपाल भार्गव के आरक्षण पर दिए बयान ने मध्य प्रदेश की सियासत में उबाल ला दिया है। उन्होंने एक समाज के समागम के मौके पर मंच से अपने संबोधन में कहा कि आरक्षण देश के लिए घातक है, ये सामान्य वर्ग या ब्राह्मण के साथ केवल मजाक नहीं, ये प्रतिभा का मजाक है, उन्होंने कहा कि 40 फीसदी वाले को 90 फीसदी वाले से पहले स्थान देना, प्रतिभा का अपमान है। इससे देश पिछड़ जाएगा। भार्गव ने कहा कि पिछड़े दलितों के उत्थान के लिए सरकार उपाय अवश्य करे, लेकिन प्रतिभा की अनदेखी से विकास नहीं हो सकता। एक बार फिर से सुनिए, गोपाल भार्गव ने आरक्षण पर किस तरह से प्रहार किया। 

देखें - 

अपने बयान पर विवाद खड़ा होने के बाद मंत्री गोपाल भार्गव ने IBC24 पर सफाई भी दी, भार्गव ने कहा कि विप्र के मंच से सभी मंचासीन अतिथियों ने आपने विचार रहे, सभी ने अपनी बात कही, मैं जो कहा वह संवैधानिक पद पर होने के दायरे में रह कर अपनी बात कही है। आइये सुनवाते हैं कि भार्गव ने अपनी सफाई में क्या कुछ कहा...

दखें -

 

फिलहाल गोपाल के बयान पर भाजपा संगठन के किसी वरिष्ठ नेता की प्रतिक्रिया नहीं आई लेकिन माना जा रहा है विधानसभा चुनावों के मुहाने पर खेड़े मध्यप्रदेश में गोपाल के इस बयान से भाजपा की दलित पिछड़ों को साधने की कोशिश को खासा नुकसान होने वाला है।  

 

वेब डेस्क, IBC24

Trending News

Related News