News

दिग्गी का चौतरफा वार - कांग्रेस को हराने के आरोप के कारण बैठा घर 

Last Modified - April 17, 2018, 8:31 pm

इंदौर। पिछले दिनों 3200 किमी की नर्मदा यात्रा कर लौटे मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंगलवार के दिन प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेंस कर अपने सफर से जुड़ी बातें साझा की। दिग्विजय ने नर्मदा यात्रा से जुड़ी बातों के साथ कांफ्रेंस की शरूआत करते हुए उसे देश और प्रदेश की राजनीति की तरफ मोड़ दिया। अपनी बात रखते हुए दिग्विजय ने पीएम मोदी से लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान तक सभी पर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने अवैध खनन, सरकारी लापरवाही, भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरा। दिग्गी ने बताया कि उन्होंने नर्मदा यात्रा के दौरान एक आरटीआई लगाई जिसमें 8 स्थानों के बारे में जानकारी मिली, दिग्गी ने सरकार से मिली जानकारी को झूठ बताते हुए आरोप लगाया कि एसे 48 स्थान है जहां खुले आम अवैध खनन जारी है।

यही भी पढ़ें - कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी को 10 साल पुराने मामले में जेल

अवैध उत्खनन पर दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज पर सीधा निशाना साधा और कहा कि हर साल दस हजार अवैध खनन के केस बनाए जाते है जबकि 54 करोड़ का अर्थदंड वसूला जाना था। जबकि वसूल सिर्फ 27 लाख हुआ साथ ही डंपर भी राजसात नहीं किए गए बिना मुख्यमंत्री के संरक्षण के ये सम्भव नहीं। यात्रा पर जाते हुए 1800 किलोमीटर में केवल 3 पौधे जिंदा मिले जबकि यात्रा से जब वापस लौट रहे थे तब रस्ते में पौधे लगाए जा रहे थे इसके भी हमारे पास प्रमाण है। प्रदेश में 5 संतों को राजयमंत्री का दर्जा देने पर कहा कि जो पौधों की बात करता है तो उन्हें मंत्री पद का दर्जा मिल जाता है कांग्रेस में आपसी मनमुटाव समाप्त करने के लिए हम सभी ने चर्चा की है। कौन सीएम बने ये चर्चा का विषय नहीं, पहली प्राथमिकता जनता के उस दर्द को दूर करना है जो प्रदेश सरकार ने दिए है। किसान से लेकर हर वर्ग परेशान है। भावांतर योजना में किसान ठगाया गया और व्यापारियों को फायदा मिला है।

यही भी पढ़ें - शराब कारोबारियों को खाद्य एवं औषधीय विभाग से लेना होगा लाइसेंस

पीएम मोदी पर निशान साधते हुए कहा कि परिक्रमा करने के बाद अब में राजनीति ही करूँगा, वो भी दमखम के साथ ना की पकोड़े तलूंगा। नोटबंदी को सिंह ने असफल बताया। वही 2 हजार के नोट की कमी पर केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस में आपसी खींचतान को खत्म करने के लिए जल्द ही सभी बड़े नेताओं को साथ लेकर संगत में पंगत नाम से सियासी यात्रा शुरू करने की बात दिग्विजय ने कही। 2003 से आज तक में इसलिए घर बैठा क्योंकि मुझ पर कांग्रेस को हराने के आरोप लगते रहे। कैश की किल्लत पर कहा कि किसी भी प्रांत का सीएम इस हालत में यदि विपक्ष पर आरोप लगाते है तो ये उनकी काबिलियत पर सवालिया निशान उठते है। केंद्र से लेकर राज्य में बीजेपी की सरकार है। नोटबंदी के समय नरेंद्र मोदी के सभी दावे गलत साबित हुए। रिजर्व बैंक बता नहीं रहा, जबकि फेक करंसी बड़ी है। 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News