रायपुर News

अनशन कर रहीं तीन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की तबीयत बिगड़ी, 75 पर गिरी गाज

Created at - April 19, 2018, 5:09 pm
Modified at - April 19, 2018, 5:09 pm

 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले 46 दिनों से मांगों को लेकर भूख हड़ताल पर कर रहीं 3 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की तबीयत बिगड़ गई। बूढ़ातालाब धरना स्थल पर अनशन पर बैठी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पद्मावती साहू, भुवनेश्वरी और संतोषी की हालत बिगडऩे पर पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद तीनों को संजीवनी एक्सप्रेस 108 से अस्पताल पहुंचाया गया। उधर, 60 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और 15 सहायिकाओं को बर्खास्त कर दिया है। 


ये भी पढ़ें :- डेंजर जोन में बीजेपी के डेढ़ दर्जन विधायक और मंत्री, खतरे में टिकट


आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की आर-पार की लड़ाई पिछले 46 दिनों से चल रही है। इसके तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की प्रांताध्यक्ष पद्मावती साहू, जिलाध्यक्ष भुनेश्वरी तिवारी, कोषाध्यक्ष सारिका तिवारी, जिला सचिव नीता काजवें आमरण अनशन पर बैठ गई हैं। पहले दिन छत्तीसगढ़ जुझारु आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका कल्याण संघ की प्रदेश अध्यक्ष समेत पांच महिलाओं ने अनशन शुरू किया। 


ये भी पढ़ें :-छत्तीसगढ़ में सरकारी राशन खा रहे हैं मुरदा ! कलेक्टर से शिकायत


46 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठी तीन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की हालत बिगडऩे से एक बार फिर माहौल गरमा गया। कार्यकर्ताओं ने धरना स्थल पर एक बार फिर भीषण गर्मी में अपनी आवाज बुलंद की और सरकार के खिलाफ नारे लगाए। 


ये भी पढ़ें :-जज लोया मौत मामला: सुप्रीम कोर्ट में एसआईटी की याचिका खारिज


वे लोग शासकीय कर्मचारी घोषित करने, न्यूनतम वेतनमान 18000 रुपए प्रतिमाह,-सेवानिवृति पर कार्यकर्ताओं को 3 और सहायिकाओं को 2 लाख रुपए देने, कार्यकर्ताओं को सुपरवाइजर करने पदोन्नत करने में उम्र की सीमा हटाकर सीधी पदोन्नति जैसी मांगों को लेकर अनशन कर रहे है।

 

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News