News

वर्कआउट के पहले क्या खाएं

Last Modified - April 23, 2018, 2:18 pm

हम सभी जिम जाने और वर्कआउट करने से पहले बहुत अधिक सोचते हैं.क्या खाये क्या न खाये। इन सब के चक्कर में कभी कभी हम अपने शरीर के साथ नाइंसाफी भी कर देते हैं।  हमारा शरीर भी मशीन की तरह है। जैसे एक मशीन को सही तरीके से काम करने के लिए ईधन की ज़रूरत होती है, ठीक वैसे ही हमारे शरीर को भी सही समय पर ईधन यानि खाने की जरूरत पड़ती है। जिम जाने के ठीक पहले खाना नहीं खाना चाहिए मगर जिम में वर्कआउट के पहले कुछ खाना जरूरी है। इसका मतलब ये नहीं कि आप जंक खाएं इससे आपको नुकसान होगा। इसके अलावा असहज महसूस करेंगे। तो यहां बात कर रहे हैं कि जिम जाने के पहले अगर सही समय पर सही चीज खाई जाए तो आपको अच्छा परिणाम मिलेगा। इस बात का भी ध्यान रखें कि योगा सिर्फ खाली पेट ही करना चाहिए। योगा अगर लंच या भारी खाने के बाद कर रहे हैं तो दो से तीन घंटे का अंतराल अवश्य रखें।

 

वर्कआउट के पहले क्या खाएं  ? अनाज यानि सीरीअल दूध के साथ

केला खाएं अलमंड (बादाम ) बटर के साथ- केले में पाचक कार्बोहाइडेट होते हैं, जो व्यायाम के दौरान एनर्जी देता है। इसमें पोटेशियम भी होता है जो मांसपेशियों और नर्व को दुरुस्त रखता है।

ओट्समील- इसमें फाइबर अधिक मात्रा में होता है। ओट्स से कार्बोहाइडेट मिलता है जो वर्कआउट के दौरान एनर्जी का स्तर बनाए रखता है।

सेब और अखरोट

साबुत अनाज का ब्रेड यानि व्होल ग्रेन ब्रेड- इसमें पीनट बटर लगाएं या जैम, इसके अलावा एक या दो उबले अंडे खाएं।

ब्राउन राइस को काली सेम के साथ खाएं

फलों का सलाद, फू्रट फलेवर्ड दही के साथ या सामान्य दही के साथ लें।

टोस्ट के साथ सेका हुआ बीन यानि बेक्ड बीन्स लें.

क्यों वर्कआउट के बाद खाना है जरूरी

एक्सर्साइज के बाद खाना उतना ही जरूरी है जितना जीने के लिए आपका खाना जरूरी है। इसका ये कतई मतलब नहीं है कि व्यायाम के  बाद आप पिज्ज़ा और समोसा खाएं। इसके खाने के बाद आपको गिल्ट भी महसूस होगा। कई लोगों को ये गलतफहमी है कि अगर वो इस दौरान खांऐगे तो बाद में वो नहीं खा पाएंगे या इससे ज्यादा कैलोरी ले लेंगे। यह एक तरह का मिथ है दरअसल वर्कआउट के बाद शरीर की मांसपेशियों थक जाती हैं इसलिए उनको सही मात्रा में पोषक तत्व की जरूरत होती है। व्यायाम के बाद स्वस्थ आहार लेने पर शरीर को सही मात्रा में ग्लूकोज, प्रोटीन मिलता है। इससे मांसपेशियों में प्रोटीन बनता है,  ग्लाइकोजन  बढ़ता है , मांसपेशियों में दर्द कम होता है ,  काॅर्टीसाॅल लेवल कम होता है यानि की पूरे  शरीर को जरूरी तत्वों की सप्लाई होती है।

web team IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News