News

खराब प्रदर्शन के कारण गौतम गंभीर ने दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ी

Created at - April 25, 2018, 5:24 pm
Modified at - April 25, 2018, 5:24 pm

नई दिल्ली। आईपीएल 2018 में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गौतम गंभीर ने दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ दी है। गंभीर की जगह मुंबई के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को दिल्ली की कप्तानी सौंपी गई है, लेकिन गंभीर टीम का हिस्सा बने रहेंगे। 

गौतम गंभीर ने दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ने पर कहा कि यह मेरा निर्णय था। 'मैंने टीम के लिए पर्याप्त योगदान नहीं दिया है। गंभीर ने कहा, 'मैं कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहा था, इसलिए कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। यह मेरा अपना फैसला है। फ्रेंचाइजी का कोई दबाव मुझ पर नहीं है। मैंने अपने इस फैसले के बार में अपनी पत्नी से भी बात की थी।

यह भी पढ़ें - छत्तीसगढ़ कांग्रेस में एक अनार सौ बीमार, उइके ने भी ठोंकी सीएम पद की दावेदारी

गंभीर ने कहा, हो सकता है कि मैं चीजों को बदलने के लिए अधिक बेताब था और इसका उलटा असर पड़ा। यह एक कारण हो सकता है। मैं दबाव नहीं झेल पा रहा था और जब आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो फिर आपको जिम्मेदारी लेनी होती है।

गंभीर ने कहा , ‘मैंने अकेले में इस पर गहन विचार किया. मैं दबाव नहीं झेल पा रहा हूं।  मैं इसके लिए बहुत अच्छी स्थिति में नहीं हूं.’ इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में फ्रेंचाइजी के सीईओ हेमंत दुआ और कोच रिकी पोंटिंग भी उपस्थित थे। 

गौतम दो बार कोलकाता नाइट राइडर्स को आईपीएल का खिताब दिला कर लौटे थे, लेकिन वह कोलकाता की सफलता को दिल्ली में जारी नहीं रख सके. बता दें कि इससे पहले गौतम गंभीर ने कहा था कि वह कोलकाता नाइट राइडर्स की तरह दिल्ली डेयरडेविल्स को आईपीएल का खिताब जीता कर संन्यास ले लेंगे।

दिल्ली की एक के बाद एक हार का झटका उनके लिए काफी भारी पड़ा और उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। दिल्ली ने गंभीर की कप्तानी में छह मैच खेले जिसमें से पांच में उसे हार मिली। 

गौरतलब है कि अब तक खेले गए 6 मैचों में दिल्ली डेयरडेविल्स को 5 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है और वह पॉइंट्स टेबल में सबसे नीचे है। इस सीजन दिल्ली के लिए गंभीर का प्रदर्शन भी अच्छा नहीं रहा है। उन्होंने पांच पारियों में केवल 85 रन बनाए हैं, जिसमें किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पहले मैच में खेली गई 55 रन की पारी भी शामिल है. वह पिछली चार पारियों में दोहरे अंक में पहुंचने में नाकाम रहे।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News