News

कौन सा योग बढ़ाएगा हाइट

Last Modified - April 27, 2018, 6:43 pm

 योगासन द्वारा शरीर को पुनर्योवन प्रदान करता है यदि आप दिन में कुछ समय नियमित रूप से योग का अभ्यास करें तो आपका शारीरिक विकास हो सकता है और मन शांत हो सकता है। आइये कुछ योग आसनों को देखें जो कद बढ़ाने में आपके सहायक हो सकतें हैं।

भुजंगासन ( Bhujangasana)

यह आसन कन्धों ,छाती और पेट की माँसपेशियों में खिचाव पैदा करता है। इसके द्वारा अंग विन्यास में सुधार होता है ,जिससे कद बढ़ता है।

 पीठकी मांसपेशिया मजबूत बनती है।

 रीढकी हड्डी लचिली बनती है।

 शरीर का प्रारूप आदर्श करनेमें मदद मिलती है।

 तनावोंका निकास होता है। 

वृक्षासन और ताडासन ( Vrikshasana and Tadasana)

 

यह ऐसा आदर्श आसन है जो रीढ़ की हड्डी को लम्बा और सीधा करता है। जो कद बढ़ाने में सहायक होता है।

 रीढकी हड्डी मजबूत होती है और उंचाई बढती है।

 घुटने और जंघाए मजबूत बनती है।

 शरीरका संतुलन सुधारता है, तथा आप स्थिर और लचिले बनते है।

 बौद्धिक समन्वय में सुधार होता है।

 सांस स्थिर और गहरी बनती है।

 

 

नटराजासन ( Natarajasan)

गर्दन और पेटकी मांसपेशींयों में खिचाव महसुस होता है तथा उन्हे मजबुती प्राप्त होती है।

रीढकी हड्डी के निचले हिस्सेमें और कमर की मांसपेशींयोंमे खिचाव आकर उन्हे मजबुती प्राप्त होती है।

रीढकी हड्डी लचिली बनती है।

 

मार्जरी आसन (Marjariasan)

 

रीढकी हड्डी लचिली बनती है।

कंधे मजबूत बनते है।

शरीरमेंरक्त प्रसार सुधारता है।

शरीर में प्राणवायू को जमा करने की क्षमता बढती है।

तनाव दूर होकर मन शांत होता है। 

 

सूर्य नमस्कार (Surya Namaskar)

 

बारा सेट का योगासन का यह चक्राकार अभ्यास थोडे ही दिनो में आपके जोड और मांसपेशीयां लचिली करने में सहायता करता है। सूर्य नमस्कार, बारा आसनों का सेट सुर्यदेवता के प्रति कृतज्ञता दर्शाता है। इसका अच्छी तरह अभ्यास किया जाये तो शरीर, मन और श्वास में आपसी तालमेल प्राप्त होता है। - सूर्य 

 

 सभी मांसपेशीयां और जोडोंमें मजबुती प्राप्त होती है।

 शरीरमें रक्त प्रसार अच्छी तरह से होता है।

 पाचन प्रणालीमें सुधार आता है।

 शरीरसे विषाक्त पदार्थ बाहर निकाले जाते है।

 अंतःस्रावी ग्रंथीयों के कार्य में सुधार आता है।

 अनिद्रा दूर करता है।

 अकारण चिंताए दूरहोती है।

नियमितता के साथ सूर्यनमस्कार करने से सर से लेकर पांव तक फायदा होता है। यह मांसपेशियां और जोडों के साथ शरीर के सारे अंगों को फायदा पहुंचाता है।

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News