राहुल को मिली बस्तर पर रिपोर्ट, आलाकमान ने थपथपाई नेताओं की पीठ, BJP बोली रिपोर्ट में सच्चाई नहीं

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 07 May 2018 12:16 PM, Updated On 07 May 2018 12:16 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ चुनाव सिर पर है, लिहाजा कांग्रेस ने अभी से सभी मोर्चों पर घेराबंदी करनी शुरु कर दी है। वहीं दिल्ली से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी मिशन छत्तीसगढ़ पर काम करना शुरु कर दिया है। राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ की जमीन नापने के लिए न सिर्फ टीम में बदलाव किया है। बल्कि टिकट बांटने से लेकर क्षेत्रीय राजनीति को ध्यान में रखकर पर्यवेक्षकों को हर क्षेत्र में भेजा है। दिल्ली में पिछले दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिले, नेताओं के साथ पर्यवेक्षकों ने अपनी ग्राउंड रिपोर्ट राहुल को भेजी, जिसे देखकर राहुल फूले नहीं समा रहे, रिपोर्ट के मुताबिक इस बार कांग्रेस बस्तर में 8 सीटें जीत सकती है, जिसमे से कुछ सीटें नई होंगी।

यह भी पढ़ें - भोपाल रेलवे स्टेशन पर चलती ट्रेन से कूदा युवक, RPF जवान ने ऐसे बचाई जान...

कांग्रेस को बस्तर में बड़ा नाम होने का डर सता रहा था, क्योंकि महेंद्र कर्मा के बाद कोई भी कांग्रेस का बड़ा नेता इस क्षेत्र में अपने दम पर सीटें नहीं जीता सकता था। लिहाजा कांग्रेस ने नीति बदलते हुए कांग्रेस के ही लोकप्रिय नेताओं का कद बढ़ाकर क्षेत्र की जनता को संदेश देने की कोशिश की, कि कांग्रेस में सब नेता बराबर हैं। बस्तर की यदि बात करें तो मनोज मंडावी, कवासी लखमा जैसे नेताओं का कद बढ़ाया गया है। वहीं बीजेपी की माने तो कांग्रेस की इस रिपोर्ट में कहीं सच्चाई नहीं है, असल में कांग्रेस बस्तर में एक भी सीट नहीं जीतेगी।

यह भी पढ़ें - राहुल गांधी के छत्तीसगढ़ दौरे को अजीत जोगी की चुनौती...

2013 के चुनाव में ऐसा माना जा रहा था कि सत्ता की चाबी बस्तर ही देगा, लेकिन कांग्रेस यहां काफी सीटें जीतने के बाद भी सरकार बनाने में विफल रही, क्योंकि बीजेपी ने मैदानी इलाकों में बाजी मारकर कांग्रेस का पासा पलटा था। ऐसे में यदि कांग्रेस ने मैदानी इलाकों में अपनी स्थिति मजबूत नहीं कि तो नतीजे खुद को एक बार फिर दोहरा सकते हैं। 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Congress Bastar Report :

ibc-24

जरूर देखिये