News

कर्नाटक में पेंच, मिलीजुली सरकार के बन रहे आसार, जानिए जादुई आंकड़े का अंकगणित

Created at - May 10, 2018, 1:34 pm
Modified at - May 10, 2018, 1:37 pm

रायपुर (आईबीसी24 ब्यूरो)। कर्नाटक विधानसभा चुनाव आखिरी दौर में है और प्रचार में चंद घंटे ही रह गए हैं। ऐसे में कांग्रेस जहां अपनी सत्ता को बरकरार रखने की कोशिश में लगी हुई है तो बीजेपी एक बार फिर कमल खिलाने के जुगत में है, जबकि जेडीएस किंग मेकर बनने की कोशिश में है। इस कोशिश का नतीजा ये है कि कर्नाटक इस वक्त रेस कोर्स में तब्दील हो गया है और प्रचार के शोर में पूरी तरह डूबा हुआ है।

चरम पर शोर, शिखर पर तनाव, घमासान घनघोर; पूरा कर्नाटक जैसे युद्ध क्षेत्र में बदल गया है। प्रचार का ये युद्ध गुरुवार को शाम पांच बजे थम जाएगा। इसीलिए तमाम राजनीतिक दलों ने इस वक्त अपना पूरा ज़ोर लगा दिया है। वे अपने सारे ब्रह्मास्त्रों का यहां इस्तेमाल कर रहे हैं। कह सकते हैं कि कर्नाटक के समर में बुधवार का दिन प्रचार के लिहाज से बेहद सरगर्म रहा। यहां बीजेपी के सबसे बड़े चेहरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और योगी आदित्यनाथ ने प्रचार के मैदान में खुद को झोंक रखा है। कर्नाटक चुनाव में बीजेपी का सारा दारोमदरा पीएम मोदी पर ही है। कोलार, बिदर और चिकमंगलोर में उनकी चुनावी सभाओं का रंग जमा। बीजेपी ने पीएम मोदी की 15 की बजाए 21 रैलियां की योजना बनाई है। मोदी एक मई से चुनावी समर में उतरे हैं। इसके बाद से पार्टी का माहौल पहले से बेहतर नजर आ रहा है। पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह दिख रहा है। मोदी चुनावी रैलियों को संबोधित करने के साथ-साथ नमो एप के जरिए भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं।

इधर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी कर्नाटक में लगातार सभाएं ले रहे हैं और पूरे प्रचार अभियान की मॉनिटरिंग में लगे हुए हैं। बुधवार को शिवाजी नगर में उन्होंने जनसभा को संबोधित किया। इसी तरह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मैराथन प्रचार में जुटे हुए हैं। उनके अलावा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी चुनावी रैलियों को संबोधित किया।

यह भी पढ़ें : ट्रेन में चढ़ते-उतरते समय हादसा होने पर मिलेगा मुआवजा

दूसरी ओर कांग्रेस ने भी अपने प्रचार में पूरा ज़ोर लगा दिया है। ख़ुद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी प्रचार की अगुवाई कर रहे हैं, वे चुनावी रैली कर रहे हैं, नुक्कड़ सभाएं ले रहे हैं और रोड शो भी लगातार कर रहे हैं। बुधवार को भी उन्होंने बेंगलुरु और नगरजूना में चुनावी रैलियों को संबोधित किया जबकि शिवाजी नगर में नुक्कड़ सभा और रोड शो में हिस्सा लिया। इसके पहले राहुल ने डोड्डा गणपति मंदिर जाकर पूजा-अर्चना की।

इस बार कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिल रहा है। राज्य की 224 विधानसभा सीटों में से 223 पर 12 मई को मतदान होंगे जबकि चुनावी नतीजे 15 मई को आएंगे। कर्नाटक में दोबारा सत्ता में आने के लिए कांग्रेस हर मुमकिन कोशिश कर रही है जबकि भाजपा दक्षिण में अपने सबसे मजबूत गढ़ कर्नाटक में एक बार फिर भगवा लहराने के अभियान पर है। कर्नाटक इलेक्शन को 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल भी कहा जा रहा है। ज़ाहिर है, ये चुनाव देश की दोनों बड़ी पार्टियों के लिए नाक और साख का सवाल बन गया है।

हालांकि कर्नाटक में इस बार कौन बाजी मारेगा, ये कहना मुश्किल है। यहां तक कि ओपिनियन पोल भी कुछ बता नहीं पा रहे हैं। 223 सीटों में चुनाव हो रहे हैं, जबकि बहुमत का जादुई आंकड़ा है 112 सीटों का।

 

सर्वे एजेंसी       भाजपा      कांग्रेस        जेडीएस       अन्य

ABP-CSDS    89-95      85-91      32-38          18

TIMES-VMR    91         89          40            4

इंडिया टुडे-कारवी  76-86     90-91       34-43           4-24

सी-फॉर          70         12          62             7

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News