रायपुर News

संविलियनगड़ी में नए मित्र बनाएंगे शिक्षाकर्मी,सेल्फी विद फ्रेंडस और सेल्फी विद स्टूडेंट्स भी

Created at - May 13, 2018, 9:09 am
Modified at - May 13, 2018, 9:16 am

रायपुर। छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मी संविलियन के लिए अलग अलग तरीके से अभियान चलाएंगे। पत्थलगड़ी की तर्ज पर संविलियनगड़ी दो चरणों में होगा। इसके तहत शिक्षाकर्मी नए मित्र मनाएंगे और उन्हें मांग की सार्थकता व सरकार की वादाखिलाफी से अवगत कराएंगे। जिसे सेल्फी विथ फ्रेंडस का नाम दिया गया है।

ये भी पढ़ें- नांदगांव पहुंचे कांग्रेसियों ने गिनाई खामियां, अभिषेक ने बघेल से पूछा- आप बताएं पाटन में क्या किया?

 

शिक्षाकर्मी पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के संचालक वीरेंद्र दुबे, संजय शर्मा, केदार जैन, चंद्रदेव राय, विकास राजपूत ने बताया कि अभियान का क्रियान्वयन दो तरह से किया जाएगा छत्तीसगढ़ में गड़ी का अर्थ मित्र या सखा भी होता है। इसके अंतर्गत हम संविलियन के लिए नए मित्र बनाएंगे। नए मित्रों को संविलियन की मांग कीसार्थकता तथा उसके प्रति सरकार की अब तक की विफलता से अवगत कराया जाएगा।  अपने सभी प्रयासों के साथ उन्हें जोड़ेंगे,  इसके लिए सेल्फी विथ फ्रेंड्स चलाया जाएगा। इसके साथ ही सेल्फी विद फैमिली, सेल्फी विद कम्युनिटी, सेल्फी विद स्टूडेंट भी चलाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- पत्थलगड़ी पर बोले बृजमोहन- ‘नक्सली और धर्मांतरण कराने वाले चला रहे अभियान’

 

उन्होंने बताया कि गड़ी का दूसरा अर्थ गड़ाना भी होता है। इसके अंतर्गत सरकार के उन वादोंदावों संकल्प  व घोषणा जिनका अब तक क्रियान्वयन नहीं हो सका उसे बैनर-पोस्टर तथा अन्य माध्यमों से लोगों तक पहुंचाया जाएगा।

 

प्रदेश उपसंचालक धर्मेश शर्माचन्द्रशेखर तिवारी और जितेन्द्र शर्मा ने बताया कि प्रदेश के समस्त शिक्षाकर्मी 26 मई के संविलियन संकल्प दिवस की जोर शोर से तैयारी में जुट गए हैं।

ये भी पढ़ें- मासूम से ज्यादती के आरोपी को फांसी की सजा, कोर्ट ने माना रेयर ऑफ रेयरेस्ट

उन्होंने साफ किया है कि मोर्चा की सहभागिता के बिना होने वाले किसी भी सम्मेलन से उनका कोई संबंध नहीं होगा। 26 मई को राज्य की समस्त 90विधानसभा क्षेत्रों में संविलियन संकल्प दिवस में संकल्प लिया जाएगा। सफल लोकतंत्र के लिए मतदाता जागरूकता का कार्यक्रम भी किया जाएगा।

ये भी पढ़ें-कई राज्यों के लिए अगले 48 घंटे आंधी-तूफान का खतरा, मौसम विभाग ने किया अलर्ट

 उल्लेखनीय है कि 11 मई को राजधानी रायपुर के बूढ़ा तालाब स्थित धरना स्थल पर शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के आह्वान पर महापंचायत का आयोजन किया गया था। शिक्षाकर्मियों का दावा है कि इसमें 50 हजार से अधिक शिक्षक जुटे थे। वे अब संविलियन से कम कोई फार्मूले के लिए तैयार नहीं हैं।         

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News