News

कर्नाटक विधानसभा में कुमारस्वामी ने पास किया फ्लोर टेस्ट, भाजपा का वॉकआउट

Created at - May 25, 2018, 4:32 pm
Modified at - May 25, 2018, 4:39 pm

बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस-जेडीएस नीत सरकार के मुखिया कुमारस्वामी ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है। टेस्ट से पहले भाजपा सदस्यों के वॉकआउट के बाद सदन में मौजूद 117 विधायकों ने कुमारास्वामी सरकार के पक्ष में अपना मत दिया। वहीं भाजपा ने वॉकआउट करने के बाद चेतावनी दी है कि यदि सीएम कुमारास्वामी किसानों का कर्ज माफ नहीं करेंगे तो भाजपा 28 मई को राज्य बंद बुलाएंगे।

फ्लोर टेस्ट से पहले अपने संबोधन में कुमारस्वामी ने कहा कि जनादेश भाजपा के लिए नहीं था। उन्होंने कहाकि इस बार का जनादेश साल 2004 की तरह है। उस वर्ष मैं पहली बार विधायक बना था और सदन की कार्यवाही को देखता था। कुमारस्वामी ने कहा, ‘येदियुरप्पा ने कहा कि राज्यपाल ने नियमों का पालन किया कि पहले सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए’। उन्होंने गुलाम नबी आजाद, सिद्धारमैया और परमेश्वर को धन्यवाद दिया।

यह भी पढ़ें : भूपेश ने बोला हमला- जीरम घटना का फायदा रमन को, इसलिए जांच नहीं हो रही

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि मतगणना के दिन सबसे पहले परमेश्वर ने मुझे फोन किया। इसके बाद आजाद ने बात की। आजाद ने कहा कि चुनाव नतीजों में खंडित जनादेश आया है और हमें सरकार बनानी चाहिए। मैंने कांग्रेस पार्टी की ओर से सकारात्मक रवैया पाया।

उन्होंने कहा, 'ऐसा मेरे मुख्यमंत्री बनने की इच्छा के चलते ऐसा नहीं हुआ। मैं ये स्पष्ट कर देना चाहता हूं। ये गठबंधन केवल सत्ता हासिल करने के लिए नहीं बना है। कुमारास्वामी ने कहा- ‘प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजेपी के अलावा और कोई भी पार्टी सरकार नहीं बना सकती। मैंने ऐसा नहीं होने दिया। वे लोकतंत्र के संरक्षक हैं और मैं ये उनपर छोड़ता हूं कि प्रधानमंत्री होने के नाते इस तरह की भाषा बोलना कितना सही है’।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News