धोनी के नाम तीन बार आईपीएल ट्रॉफी लेने का कीर्तिमान, फाइनल में थोक में रिकॉर्ड्स

Reported By: Shahnawaz Sadique, Edited By: Shahnawaz Sadique

Published on 28 May 2018 10:51 AM, Updated On 28 May 2018 10:51 AM

मुंबई। चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल के 11वें सीजन की विजेता बन गई है। वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए खिताबी मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से हराते हुए सीएसके ने तीसरी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया। इसके पहले सिर्फ मुंबई इंडियंस ही तीन बार इस टूर्नामेंट को जीतने में कामयाब रही थी। 

शेन वॉटसन के नाबाद शतक के बूते चेन्नई सुपरकिंग्स आईपीएल इतिहास में मुंबई इंडियंस के बाद दूसरी ऐसी टीम बन गई है जिसने तीसरी बार ये खिताब जीता है। मुंबई ने साल 2013, 2015 और 2017 का आईपीएल खिताब अपने नाम किया था और ये तीनों ही खिताब उसे रोहित शर्मा की कप्तानी में मिले हैं। रोहित के बाद अब धोनी भी चेन्नई सुपर किंग्स को तीन बार आईपीएल चैंपियन बना दिया है।

यह भी पढ़ें : रायपुर की उज्जवला लाभार्थी महिलाओं ने छत्तीसगढ़ी में पीएम से की मन की बात, मोदी ने मांगा आशीर्वाद

फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद को हराते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स ने एक अद्भुत रिकॉर्ड अपने नाम किया। चेन्नई एकमात्र ऐसी टीम बन गई जिसने अपने किसी भी प्रतिद्वंदी को आईपीएल के एक ही सीजन में 4 बार हराया हो। लीग मुकाबलों में दोनों ही बार सीएसके SRH पर भारी पड़ी तो फाइनल मुकाबले से पहले क्वालीफायर में भी धोनी सेना ने हैदराबादी निजामों को रौंदा था।

अगर धोनी की सेना ने हैदराबाद के खिलाफ 4-0 से क्लीन स्वीप किया कहे तो गलत नहीं होगा। 22 अप्रैल को हैदराबाद में सनराइजर्स को चेन्नई ने 4 रनों से हराया। 13 मई को पुणे में सनराइजर्स को चेन्नई ने 8 विकेट से हराया। 22 मई को मुंबई में सनराइजर्स को चेन्नई ने क्वालिफायर-1 में 2 विकेट से हराया। 27 मई को मुंबई में सनराइजर्स को चेन्नई ने फाइनल में 8 विकेट से हराया।

यह भी पढ़ें :कैराना-पालघर सहित 4 लोकसभा और 10 विधानसभा में उपचुनाव, बीजेपी की प्रतिष्ठा दांव पर

कप्तान के तौर पर T20 में यह एमएस धोनी की 150वीं जीत थी। उनके इस रिकॉर्ड के आसपास भी कोई खिलाड़ी नहीं है। धोनी के बाद कप्तान के तौर पर गौतम गंभीर के नाम 98 जीत दर्ज है। बता दें कि मुंबई के वानखेड़े में खेले गए आईपीएल 2018 के फाइनल में टॉस जीतकर चेन्नई सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को बल्लेबाजी के लिए बुलााया। हैदराबाद ने इस खिताबी मुकाबले में चेन्नई के सामने 178 रन का लक्ष्य रखा। जवाब में वॉटसन के नाबाद शतक के बूते सीएसके ने 8 विकेट से फाइनल अपने नाम किया। शेन वॉटसन को क्रिकेट फैंस लंबे समय तक याद रखेंगे। इसका प्रमुख कारण यही है कि उन्होंने फाइनल मैच में धुआंधार नाबाद शतक जमाकर चेन्नई सुपरकिंग्स को तीसरी बार आईपीएल चैंपियन बनाया। वॉटसन ने सिर्फ 57 गेंदों में 11 चौके और 8 छक्कों की मदद से नाबाद 117 रन बनाए। वॉटसन ने तो फाइनल यादगार बना दिया, लेकिन इस बीच उन्होंने एक गेंदबाज के करियर पर गहरा धब्बा लगा दिया। वॉटसन ने सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज संदीप शर्मा के एक ओवर में 27 रन जड़कर कीर्तमान बना दिया।

वेब डेस्कIBC24

Web Title : IPL 2018:

ibc-24