News

गोल्ड मेडलिस्ट संजीता चानू डोप टेस्ट में फेल, छीना जा सकता है पदक

Last Modified - June 1, 2018, 1:05 pm

नई दिल्ली। कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय महिला रेसलर संजीता चानू डोप टेस्ट में फेल हो गई है। खिलाड़ियों में बैन टेस्टास्टेरॉन स्टेरॉयड जांच के दौरान चानू के सैंपल में पाए गए हैं।

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में जंगली हाथियों को लगाए जा रहे हैं रेडियो कॉलर, देखिए अभियान का वीडियो

डोप टेस्ट में फेल होने के बाद चानू के मेडल छीने जा सकते हैं। आपको बतादें चानू ने 2014 कॉमनवेल्थ और ग्लास्गो गेम्स में गोल्ड जीता था। इस घटना के बाद चानू को अस्थाई रूप से सस्पेंड कर दिया गया है। भारतीय रेलवे की कर्मचारी संजीता ने महज 20 साल की उम्र में 48 किग्रा वर्ग में 173 किग्रा वजन उठाकर ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड मेडल जीता था।

ये भी पढ़ें- हड़ताली नर्सों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, एस्मा लगने के बावजूद जारी थी हड़ताल

ये भी पढ़ें- आप के आ जाने से ..चढ़ती जवानी तक गाने पर डांस का ये वीडियो सोशल मीडिया में सुपरहिट

चानू डोप टेस्ट में दोषी पाई जाती है, तो फेडरेशन चानू पर चार साल का प्रतिबंध भी लगा सकती है। इंडियन रेसलिंग फेडरेशन ने चानू को डोप टेस्ट में फेल पाया है। जिसके कारण उन्हें एंटी डोंपिंग नियम का उल्लंघन करने पर अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है। हालांकि इस बात की पुष्टी नहीं हो पाई की वो ड्रग उनके सैंपल में कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान मिला है।

 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News