IBC-24

सुषमा ने पेंट्रीच से पीटरमैरिट्जबर्ग तक किया रेल सफर, दोनों देशों के संबंध प्रगाढ़ बनाने पर दिया जोर

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 07 Jun 2018 04:18 PM, Updated On 07 Jun 2018 04:18 PM

दक्षिण अफ्रिका। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पांच दिवसीय दक्षिण अफ्रीका दौरे पर हैं। पीटरमैरिट्जबर्ग में सुषमा ने दोनों देशों के संबंध को और प्रगाढ़ बनाने पर जोर दिया। भाषण के बाद सुषमा स्वराज पेंट्रीच से रेल में सफर कर पीटरमैरिट्जबर्ग पहुंची। यहां सात जून 1893 की ऐतिहासिक घटना की 125 वीं वर्षगांठ के मौके पर हूबहू उस घटना का मंचन किया गया। आपको बतादें सात जून 1893 को युवा वकील मोहनदास करमचंद गांधी को केवल श्वेतों के लिए आरक्षित ट्रेन के डिब्बे से बाहर फेंक दिया गया गया था। आज यही घटना का मंचन कर गांधीजी को याद किया गया।  

सुषमा ने यहां नेल्सन मंडेला द्वारा 25 साल पहले स्थापित महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। आपको बतादें महात्गांधी की एक ही प्रतिमा में उनके दो रूपों की छवि है। एक छवि युवा वकील की है। जबकि दूसरी छवि राष्ट्रपति  महात्मागांधी के रुप की है। सुषमा ने गांधीजी का चरखा चलाकर नई प्रतिमा का अनावरण किया है।

 

उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने दुनिया भर के उपनिवेशवाद अथवा रंगभेद के गुलामों के बीच उम्मीद की किरण जगाई थी. सुषमा ने कहा , ‘यह पीटरमैरिट्जबर्ग था जहां हमारे समय के दो महान नेताओं ने फिर से उम्मीद जगाई. उन्होंने विकासशील देशों खासतौर से भारत और अफ्रीकी राष्ट्रों को उपनिवेशवाद की बेड़ियों से आजाद कराकर उनमें उम्मीद जगाई.’

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Sushma Swaraj:

ibc-24