News

नशे की लत से भी छुटकारा दिलाएगा त्राटक योग क्रिया

Last Modified - June 8, 2018, 2:32 pm

रायपुर। शारीरिक और मानसिक उपचार योग के सबसे अधिक ज्ञात लाभों में से एक है। यह इतना शक्तिशाली और प्रभावी इसलिए है क्योंकि यह सद्भाव और एकीकरण के सिद्धांतों पर काम करता है।योग अस्थमा, मधुमेह, रक्तचाप, गठिया, पाचन विकार और अन्य बीमारियों में चिकित्सा के एक सफल विकल्प है, ख़ास तौर से वहाँ जहाँ आधुनिक विज्ञान आजतक उपचार देने में सफल नहीं हुआ है। एचआईवी (HIV) पर योग के प्रभावों पर अनुसंधान वर्तमान में आशाजनक परिणामों के साथ चल रहा है। चिकित्सा वैज्ञानिकों के अनुसार, योग चिकित्सा तंत्रिका और अंतःस्रावी तंत्र में बनाए गए संतुलन के कारण सफल होती है जो शरीर के अन्य सभी प्रणालियों और अंगों को सीधे प्रभावित करती है।

अधिकांश लोगों के लिए, हालांकि, योग केवल तनावपूर्ण समाज में स्वास्थ्य बनाए रखने का मुख्य साधन हैं। योग बुरी आदतों के प्रभावों को उलट देता है। जैसे कि सारे दिन कुर्सी पर बैठे रहना, मोबाइल फोन को ज़्यादा इस्तेमाल करना, व्यायाम ना करना, ग़लत ख़ान-पान रखना इत्यादि।

ये भी पढ़ें -दिल्ली में केजरी के पोस्टर, विपक्ष खोजबीन में जुटा

इनके अलावा योग के कई आध्यात्मिक लाभ भी हैं। हर व्यक्ति को योग अलग अलग तरह से लाभ पहुँचाता है। तो योग को अवश्य अपनायें और अपनी मानसिक, भौतिक, आत्मिक और अध्यात्मिक सेहत में सुधार लायें।कई बार इंसान को गलत आदत लग जाती है। और वो इस नशे की लत से निकलना चाहता है इसलिए ये जरुरी है कि वो अपनी आदत में इन योग क्रिया को खास स्थान दें।  योग ऐसा साधन है जिसके जरिये आसानी से नशे की लत से छुटकारा मिल सकता है-इसके लिए कुछ खास क्रिया है जिनमें -

 त्राटक

 कुंजल

 प्राणायाम को जगह देना जरुरी है। 

 

मनोज अग्रवाल (योग एक्सपर्ट )

वेब डेस्क IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News