News

पत्र से हुआ खुलासा, राजीव गांधी की तरह मोदी को मारने की रची जा रही थी साजिश

Last Modified - June 8, 2018, 3:45 pm

पुणे। पुलिस के हाथ एक ऐसा पत्र लगा है जिसमें बेहद चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। इस पत्र से जाहिर हुआ है कि जिस तरह से पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की गई, इसी तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी हत्या का षड़यंत्र रचा जा रहा था। पत्र में किसी रोड शो के दौरान पीएम मोदी को निशाना बनाए जाने का भी उल्लेख किया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

दरअसल भीमा कोरेगांव में हिंसक प्रदर्शन केस में बुधवार को 5 दलित कार्यकर्ता गिरफ्तार किए गए थे। पुणे और दिल्ली पुलिस की संयुक्त कार्रवाई के दौरान रोना जैकब विल्सन, सुधीर धावले, शोमा सेन, महेश राउत और सुरेंद्र गाडलिंग को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के अनुसार इनके संबंध माओवादियों से है। इसकी जांच जारी है। इन्हीं में से एक रोना जैकब के लैपटॉप से यह पत्र बरामद हुआ है। यह पत्र आज अदालत में पेश किया गया।

.

यह भी पढ़ें : कांग्रेस नेता ने लहराई रिवॉल्वर, वीडियो वायरल

यह पत्र किसी माओवादी नेता को लिखा गया है। लाल सलाम के संबोधन से शुरु हुए पत्र में कहा गया है कि हिंदू कट्टरवाद हमारे एजेंडे की प्रमुख चिंता है। कई नेताओं ने इस मुद्दे को गंभीरता से उठाया है। हम समान विचारधारा के लोगों के साथ गठजोड़ करके इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं। मोदी के नेतृत्व वाला हिंदू कट्टरवाद आदिवासियों के जीवन को बर्बाद कर रहा है। बिहार और पश्चिम बंगाल में मिली जबरदस्त हार के बावजूद मोदी ने 15 राज्यों में सफलतापूर्वक भाजपा की सरकार बना दी है। यदि भाजपा और मोदी की यही रफ्तार कायम रही तो इससे पार्टी को काफी नुकसान हो सकता है।

पत्र में आगे कहा गया है कि कामरेड किशन और कुछ अन्य वरिष्ठ कामरेड मोदी राज को खत्म करने के लिए कोई ठोस कदम उठाना चाहते हैं। इसके लिए राजीव गांधी जैसे हमले के बारे में सोचा जा रहा है। हालांकि यह आत्मघाती हो सकता है और हम इसमें फेल भी हो सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद पार्टियों PB/CC को हमारे इस सुझाव पर विचार करना चाहिए। इसके लिए मोदी के रोड शो को निशाना बनाना असरदार साबित हो सकता है।

गिरफ्तार आरोपियों के पास से पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क और कुछ अन्य दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। पुणे के जेसीपी रविंद्र कदम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हम इनके लिंक और कनेक्शन की जांच कर रहे हैं। हमने कई घरों पर भी छापेमारी की है। रोना जैकब विल्सन के घऱ से हमने एक पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क और कुछ अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं, जिन्हें फिलहाल फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है। हमें पता लगा है कि रोना विल्सन और सुरेंद्र गाडलिंग के नक्सलवादियों के साथ संबंध हैं। उन्होंने बताया कि सुरेंद्र गाडलिंग को कोर्ट में पेश किया गया है, जहां से उसे 8 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News