महासमुंद News

सरकारी स्कूल में चमगादड़ों का डेरा, निपाह के खौफ के बीच पढ़ाई

Created at - June 9, 2018, 1:48 pm
Modified at - June 9, 2018, 1:48 pm

महासमुंद। महासमुंद के बागबाहरा विकास खण्ड के ग्राम पंचायत ओंकारबंद के गांव तेलीबांधा के प्राथमिक शाला में चमगादड़ों का बसेरा है। 50 साल पुराना खपरैल स्कूल भवन में चमगादड़ आराम से अपना डेरा जमाए हुए है। इनकी वजह से बच्चों को काफी परेशानी होती है। स्कूल में चमगादड़ों का मल मूत्र पड़ा रहता है और बारिश की वजह से बदबू फैली रहती है।

ये भी पढ़ें- 'संपर्क फॉर समर्थन': विवेकानंद आश्रम पहुंचे रमन, स्वामी स्वरुपानंद से लिया आशीर्वाद

जिससे छात्र और शिक्षकों का जीना मुहाल है चमगादड़ों से निपाह वायरस का खतरा भी बना रहता है। ग्रामीण, सरपंच और प्रधानपाठक ने कई बार पूरे मामले की शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

ये भी पढ़ें- उत्तरप्रदेश और दिल्ली में तूफान की आशंका ,हाई अलर्ट जारी

वहीं इस मामले में अब शिक्षा विभाग का कहना है कि अगले सत्र के पहले चमगादड़ों को स्कूल से हटा दिया जाएगा। देशभर में कई जगहों पर निपाह वायरस के फैलने के बावजूद स्कूल प्रशासन का ये आरामदिली जवाब छात्रों पर भारी पड़ सकता है। बहरहाल देखना होगा कि प्रशासन का ये आश्वासन का जवाब कब धरातल पर दिखाई देता है।

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News