भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट में किया तनाव का जिक्र, कांग्रेस ने फेंका ये सियासी दांव

Reported By: Sanjeet Tripathi, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 12 Jun 2018 05:11 PM, Updated On 12 Jun 2018 05:11 PM

भोपाल। संत भैय्यूजी महाराज ने अपने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मारी थी। वे एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। बताया जा रहा है कि वे पिछले कुछ दिनों से तनाव में थे। इसका उल्लेख उन्होंने सुसाइड नोट में भी किया है। हालांकि तनाव की वजह उन्होंने नहीं लिखी थी।

मामले में आईजी मकरंद देउस्कर ने बताया कि सुसाइड नोट और पिस्टल जब्त कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है और घर के सदस्यों से भी पूछताछ की जाएगी। उन्होंने बताया कि भय्यूजी महाराज ने खुद को लाइसेंसी हथियार से गोली मारी।

यह भी पढ़ें : इस तरह था भैय्यूजी महाराज का जीवन सफर, देखिए तस्वीरें

मौके से बरामद सुसाइड नोट में लिखा है कि, 'परिवार के दायित्व को संभालने के लिए किसी को वहां होना चाहिए मैं बेहद परेशान होकर तनाव के साथ जा रहा हूं’।

इधर संत भय्यूजी महाराज खुदकुशी केस में सियासत भी शुरू हो गई है। इस खबर से जहां से सियासतदार और संत समाज स्तब्ध है, वहीं कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता माणिक अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि कहा कि भय्यूजी महाराज भाजपा और कांग्रेस दोनों के संपर्क में थे। भाजपा उन पर साथ काम करने के लिए लगातार दबाए बनाए हुए थी। अग्रवाल ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की।

वहीं भय्यूजी महाराज की आत्महत्या की खबर से उन्हें जानने वाले लोग आश्चर्य में हैं। मप्र सरकार में मंत्री मंत्री माया सिंह ने इस घटना पर आश्चर्य जताया। उन्होंने कहा कि कहा काश यह खबर झूठी हो। इसी तरह मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने भय्यूजी के निधन को अपूरणीय क्षति बताया। सांसद प्रहलाद पटेल ने इस घटना पर शोक जताया है।

उधर उज्जैन पहुंचे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भय्यूजी महाराज की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि भगवान उनकी आत्मा को शांति दे

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Bhaiyyuji Maharaj Suicide :

ibc-24

जरूर देखिये