रायपुर News

सुपेबेड़ा में किडनी बीमारी से जूझ रही महिला की मौत, अब तक 64 लोगों ने गंवाई जान

Created at - June 13, 2018, 9:52 am
Modified at - June 13, 2018, 9:52 am

गरियाबंद। सुपेबेड़ा में किडनी बीमारी से पीड़ित मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है। किडनी की बीमारी से एक 55 साल की महिला ने दम तोड़ा है। इस मौत के बाद अब तक इस बीमारी से 64 लोगों की जान जा चुकी है। इलाके में अब भी दो से तीन मरीज किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं। 

ये भी पढ़ें भय्यू महाराज को बेटी कुहू देगी मुखाग्नि, अंतिम दर्शनों के लिए रखा जाएगा पार्थिव देह

ये भी पढ़ें- पुलिस विभाग में बड़ा फेरबदल, 116 निरीक्षकों का तबादला ..देखिए सूची

सुपेबेड़ा की समस्या प्रदेश ही नहीं केंद्र तक जा पहुंची है। केंद्र की टीम गांव में सर्वे भी कर चुका है। बावजूद इसके बीमारी को रोकने अब तक कोई सार्थक प्रयास नहीं किया गया है। जिससे ग्रामीणों के सामने हताश और परेशान होने के शिवाय कुछ नहीं बचा है।

ग्रामीणों के मुताबिक बीते हफ्ते एक मरीज की तबीयत बिगड़ने पर उसे देवभोग में भर्ती कराया गया था। स्थिति बिगड़ता देख डॉक्टरों ने उसे मेकाहारा में भर्ती कराने की बात कही। मरीज के परिजन उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराना चाहते थे। परिजनों की मानें तो मेकाहारा अस्पताल में इलाज भगवान भरोसे है।

ये भी पढ़ें- मोदी का 3 साल में पांचवां और दो महीने में दूसरा छत्तीसगढ़ दौरा, बस्तर को देंगे  विमान सेवा की सौगात

इसलिए परिजन इलाज के लिए निजी अस्पताल की ओर रूख कर रहे हैं। आपको बता दें कि सुपेबेड़ा गांव में प्रदूषित पानी पीने की वजह से पिछले पांच साल में कई लोगों की मौत हो चुकी है। यहां खराब पानी पीने के बाद लोग किडनी रोग के शिकार हो रहे हैं। 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News