रायपुर News

लड़कियों को ठगने वाला विदेशी गिरोह गिरफ्त में, वीडियो-फोटो की मॉर्फिंग कर ऐंठते थे मोटी रकम

Last Modified - June 13, 2018, 8:02 pm

रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस ने नाइजीरिया गिरोह का फर्दाफाश किया है। यह गिरोह भोली भाली लड़कियों को अपने प्रेमजाल में फंसाकर ब्लैकमेल करता था। दिल्ली से पूरा रैकेट चलाया जा रहा था। गिरोह के लोग फेसबुक और सोशल साइट्स पर लड़कियों वीडियो और फोटो प्राप्त करते थे। इसके बाद ब्लैकमेलिंग का काम शुरू होता था। इस रैकेट से जुड़े 4 आरोपियों से 10 लैपटॉप, 23 से ज्यादा मोबाइल और टेबलेट, 3 पासपोर्ट और कैश भी बरामद किए गए हैं।  

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पूरा गिरोह एक बड़े काल सेंटर जैसे दफ्तर से संचालित हो रहा था। इसमें से एक नाइजीरियन बिना पासपोर्ट के ही भारत में रह रहा था। अप्रैल महीने में एक महिला ने इस बात की शिकायत सिविल लाइन थाने में की थी कि वेलेंसिया वार्ट नाम के युवक की उससे व्हाट्सएप पर चैट हुई थी, जिसके बाद उसने फोटो और वीडियो लेकर उसे मोर्फ कर ब्लैकमेलिंग शुरू कर दी। अभी तक वो 7 लाख रुपए ले चुका है। 

ये भी पढ़ें- माओवादियों के मांद में घुसकर मुंहतोड़ जवाब, 16 नक्सली गिरफ्तार

शिकायत के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि बैंक खाता  दिल्ली का है। इसके बाद पुलिस ने दिल्ली जाकर पूरा जाल बिछाया और चारों युवक को गिरफ्तार किया। करीब 21 हजार रुपये कैश भी इन नाइजीरियन गिरोह से पास से मिले हैं। वहीं काफी संख्या में इलेक्ट्रानिक्स समान भी मिले हैं।

उल्लेखनीय है कि नाइजीरियन गिरोह ठगी के मामलों में लिप्त रहता है। लेकिन पहली बार युवतियों को प्यार में फंसाकर ब्लैकमेलिंग करने का मामला सामने आया है। गिरोह 500 से 1000 महिलाओं को फ्रेंड रीकवेस्ट भेजकर झांसे में लेता था। इस गिरोह का मास्टर माइंड कैनित ओसिटा डीमा था।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News