News

रेलवे ने लॉन्च किया एप, अनारक्षित टिकट बुकिंग और रद्द करने की रहेगी सुविधा

Created at - June 14, 2018, 9:56 am
Modified at - June 14, 2018, 10:01 am

दिल्ली। भारतीय रेलवे रेल यात्रियों की यात्रा और सुलभ करने में जुटा है। इसी कड़ी में रेलवे ने एक नया मोबाइल एप लॉन्च किया है। इस एप के जरिए अनारक्षित टिकट बुक कराने के साथ बुकिंग रद्द करने की सुविधा मिलेगी। एप के जरिए यात्री जनरल टिकट के अलावा प्लेटफॉर्म टिकट भी ऑनलाइन बुक करा सकते हैं।

ये भी पढ़ें- एयरफोर्स की बढ़ेगी ताकत, अपाचे हेलीकॉप्टर सौदे पर मुहर  

इससे पहले रेलवे ने आरक्षित टिकट बुक कराने के लिए रेल कनेक्ट नाम का ऐप जनवरी 2017 में री-लॉन्च किया था। हालांक यात्रियों को अनारक्षित टिकट सिर्फ रेलवे काउंटर में जाने के बाद ही मिलता था। रेलवे ने अभी इस मोबाइल ऐप को एंड्रॉयड और विंडो फोन यूजर्स के लिए लॉन्च किया है। इसे गूगल प्ले स्टोर और विंडोज स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें- फुटबॉल के महाकुंभ की उलटी गिनती, जानिए मजबूत दावेदार टीमों के बारे में

एप को डाउनलोड करने के बाद इसे इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले यूजर्स को इसमें रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए यूजर को एप में अपना नाम, मोबाइल नंबर, शहर, टिकट टाइप, यात्रियों की संख्या और वो ज्यादातर किस मार्ग पर सफर करता है बताना होगा।

रेल मंत्रालय ने इसे लेकर एक बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि रेल सूचना प्रणाली केंद्र (सीआरआईएस) ने मोबाइल आधारित एप्लिकेशन 'अटसनमोबाइल' विकसित किया है। यूजर इस एप को गूगल प्‍ले स्‍टोर या विन्‍डोज स्‍टोर से निःशुल्क डाउनलोड कर सकते हैं. साथ ही पंजीकरण कराने के तरीके के बारे में भी बताया गया है। इस एप में सावधिक (सीजन) और प्लेटफॉर्म टिकटों के नवीनीकरण, आर-वॉलेट की बकाया राशि की जांच और लोड करने व यूजर प्रोफाइल मैनेजमेंट और बुकिंग हिस्ट्री की भी सुविधा होगी।

ये भी पढ़ें- मोदी की सभा में भीड़ जुटाने 500 बसें अधिग्रहित, गांव-गांव से पहुंच रहे लोग

रेलवे के अनुसार पंजीकरण कराने के लिए यात्रियों को सबसे पहले अपना मोबाइल नंबर, नाम, शहर, रेल की डिफ़ॉल्ट बुकिंग, श्रेणी, टिकट का प्रकार, यात्रियों की संख्या और बार-बार यात्रा करने के मार्गों का विवरण देना होगा। पंजीकरण कराने पर यात्री का जीरो बैलेंस का रेल वॉलेट (आर-वॉलेट) अकाउंट खुद-ब-खुद खुल जाएगा. खास बात यह है कि आर-वॉलेट बनाने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्‍क नहीं देना होगा। रेलवे ने बताया है कि आर-वॉलेट को किसी भी यूटीएस काउंटर पर या वेबसाइट पर उपलब्ध विकल्प के माध्यम से रीचार्ज किया जा सकता है।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News