सीहोर News

72 साल की महिला के जज्बे को सलाम, कर्ज चुकाने करतीं हैं टाइप राइटिंग

Created at - June 15, 2018, 5:38 pm
Modified at - June 15, 2018, 5:38 pm

सीहोर। 62 की उम्र में जहां लोग रिटायरमेंट लेकर जिंदगी आराम और सुकुन से बिताना पसंद करते हैं वहीं 72 साल की एक बुजुर्ग महिला लक्ष्मी बाई गोलियों की रफ्तार से 90 से 100 शब्द प्रति मिनट टाइपिंग कर अपनी आजीविका चालाती हैं। मूल रूप से मध्यप्रदेश की सीहोर की रहने वाली लक्ष्मी बाई ये सब कर्ज चुकाने के लिए कर रही है। 

ये भी पढ़ें- दिल्ली में सांस लेना भी हुआ मुहाल, निर्माण कार्यों पर तीन दिन की रोक

ये भी पढ़ें- हाईटेक सेक्स रैकेट फूटा, मोबाइल पर फोटो-वीडियो के जरिए होती थी सौदेबाजी, देखिए वीडियो

लक्ष्मी बाई ने बताया कि उसने अपनी बेटी के इलाज के लिए लोन लिया था। घर पर दूसरा कोई और कमाई करने वाला नहीं होने के चलते वृद्ध महिला को लोन चुकाना पड़ता है। कर्ज चुकाने के लिए महिला ने टाइपिंग सीखी और अब कलेक्ट्रेट के आगे बैठकर टाइप राइटिंग कर अपनी आजीविका चलाती है।

सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी वीडियो शेयर कर मदद की दरख्वास्त की है।लक्ष्मी बाई का काम के प्रति उनके जुनून का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आवेदक केवल आवेदन का विषय, नाम-पता बताता है और अम्मा मिनटों में आवेदन टाइप कर देती हैं।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News