IBC-24

सहराना गांव की दहेजबंदी मुहिम की हो रही सराहना, गुर्जर समाज की पहल

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 19 Jun 2018 04:38 PM, Updated On 19 Jun 2018 04:38 PM

चंबल। मध्यप्रदेश के चम्बल में मृत्युभोज, शराबबंदी के बाद अब दहेज बंदी भी शुरू हो गई है। मुरैना में चम्बल के संत के नाम से विख्यात हरिगिरि महाराज के निर्देश पर गुर्जर समाज ने दहेज बंदी का पालन शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें- बहन ने भतीजे के साथ मिलकर की भाई की हत्या,दोनों की दोस्ती में भाई बन रहा था बाधा

इसकी शुरूआत सहराना गांव से हो रही है। जहां इंद्र सिंह गुर्जर अपनी बेटी की शादी बिना दहेज दिए कर रहे है। इसका प्रमाण उन्होंने कार्ड में भी दिया है। कार्ड में शादी में हो रहे पूरे खर्चे का ब्यौरा दिया गया है।

ये भी पढ़ें- मंदसौर गोलीकांड: पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों को क्लीन चिट, फायरिंग को बताया जायज

शादी 20 जून को है शादी कार्ड पर न केवल दहेज बंदी का उल्लेख है।बल्कि शराबबंदी का भी असर साफ दिख रहा है। कार्ड पर स्पष्ट रूप से नोट लिखा गया है कि कोई भी व्यक्ति शराब पीकर शादी समारोह में न आएं। साथ ही कार्ड में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की भी अपील की गई है।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : MP News:

ibc-24