News

हिरानी के कैनवास से निकली संजू एक बेहतरीन फिल्म

Created at - June 29, 2018, 6:04 pm
Modified at - June 29, 2018, 6:04 pm

रायपुर। रणबीर कपूर की फिल्म संजू आज रिलीज हो गई है फिल्म को डायरेक्ट किया है राजकुमार हिरानी ने जो पहले भी कई शानदार और बेहतरीन फिल्में दे चुके हैं। फिल्म में रणबीर कपूर, परेश रावल, विक्की कौशल, मनीषा कोइराला , जिम सारभ, सोनम कपूर, अनुष्का शर्मा, करिश्मा तन्ना, दीया मिर्जा जैसे कलाकार हैं.लेकिन इस फिल्म का मुख्य किरदार है अपना संजू बाबा। इस फिल्म में संजय दत्त का किरदार निभा रहे हैं  रणबीर कपूर।

ये भी पढ़ें - द इनक्रेडिबल्स 2, पहले भाग से काफी बेहतर...जानिए स्टोरी

फिल्म की कहानी उस खबर से शुरू होती है। जब संजय दत्त को पांच साल की सजा सुनाई जाती है और वो जेल जाने पहले अपनी लाइफ पर किताब लिखना चाहते हैं और अपनी ख्वाहिश बीवी मान्यता को बतातें हैं ऐसे में एंट्री होती एक विदेशी राइटर विन्नी की जिसका रोल प्ले किया है अनुष्का शर्मा ने। संजू उन्हें अपनी लाइफ की कहानी बताना शुरू करते हैं और बस यहीं से खुलते संजय दत्त की लाइफ के पन्ने जिसमें अच्छे बुरे पल आते हैं जिन्हें वो याद नहीं करना चाहते। और फिर कहानी फ्लैशबैक में चलती है। 

 

जहां संजय दत्त अपने पापा सुनील दत्त (परेश रावल)  के साथ सेट पर फिल्म रॉक की शूटिंग करते हैं. वहीं उनकी मां नर्गिस दत्त ( मनीषा कोइराला) कैंसर की बीमारी से जूझ रही हैं.फिल्मों की शूटिंग के साथ साथ संजू को ड्रग्स की लत लग जाती है और वो इसका आदी हो जाता है और गलत संगत में पड़ जाता है। विदेश में मां के इलाज के दौरान उसकी मुलाकात होती है कमलेश ( विक्की कौशल) से जो बाद में संजू का सबसे अच्छा दोस्त बन जाता है.मां की मौत के बाद संजू टूट जाते हैं और पूरी तरह से नशे के आदी हो जाते हैं उनका करियर भी  ख़त्म हो जाता है और उसके बाद शुरू होता है संजू  के रिहेब सेंटर का सफर। 

लेकिन नशे का आदी हो चुका संजू वहां से भाग जाता है और अपने दोस्त कमलेश से पैसे ड्राग्स के लिए मांगता है। उसके बाद कमलेश और सुनील दत्त संजू को समझते हैं और जीने की नई राह दिखाते हैं उसके बाद संजू फिर से अपने करियर पर ध्यान देता है. कई फिल्मों के फ्लॉप होने के बाद संजू हार नहीं मानता क्योंकि उसके साथ उसके पिता और एक सच्चा दोस्त हैं.संजू की लाइफ एक बार फिर से पटरी पर आती है लेकिन फिर मुंबई बम ब्लास्ट में संजू का नाम आता है। और फिर संजय दत्त की पूरी लाइफ बदल जाती हैं.और यहां से हो जाता है फिल्म इंटरव्ल अब आगे क्या होता सुनील दत्त और कमलेश कैसे संजू की मदद करते हैं.ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।बात की जाए फिल्म की खूबियों की तो राजकुमार हिरानी ने फिल्म का शानदार डायरेक्शन किया है उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वो बेहतरीन डायरेक्टर हैं.वहीं रणबीर कपूर की एक्टिंग और लुक से दर्शक पहले ही इंप्रेस हो चुके है। रणबीर ने कहानी के साथ न्याय किया जो रोल उन्हें दिया गया उन्होंने शिद्दत के साथ निभाया है परेश रावल ने सुनील दत्त के रोल को बखूबी निभाया है। विक्की कौशल ने भी अपने रोल से खास जगह बनाई है बाकी कलाकारों का रोल भी काफी अच्छा है.

 

अगर कमजोर कड़ी की अगर बात करें तो  फिल्म की लंबाई थोड़ी ज्यादा है फिल्म में संजय दत्त के कई पहलूओं को नहीं दिखाया गया है। फिल्म में सिर्फ संजय दत्त की लाइफ के सबसे बुरे दौर पर फोकस किया गया है जब वो नशे के आदी थे और कोर्ट केस के चक्कर में जेल की सजा और बेल के लिए संघर्ष कर रहे थे.साथ ही अपने करियर को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहे थे.उस दौरान उनके पिता और दोस्त ने उनका साथ दिया था.हालांकि दर्शकों को फिल्म पंसद आ रही है कहा जा सकता है कि राजकुमार हिरानी के कैनवास से निकली संजय दत्त की बायोपिक संजू एक बेहतरीन फिल्म है जो रणबीर कपूर के करियर नई उंचाई देगी।

मेरी तरफ से इस फिल्म को 3.5 /5स्टार

 

 

वेब डेस्क IBC24


Download IBC24 Mobile Apps