News

योग की सहायता से करें सिरदर्द का इलाज

Created at - July 3, 2018, 5:09 pm
Modified at - July 3, 2018, 5:42 pm

सिरदर्द एक आम समस्या है लेकिन जब सिर का दर्द बढ़ जाए तो इसे ख़त्म करना बहुत जरुरी हो जाता है। कई बार देखा जाता है कि हम कितनी भी दवाइयों का इस्तमाल कर ले लेकिन दर्द कम ही नहीं होता तो चलिए आज देखते हैं योग से कैसे करें अपने सिर दर्द का इलाज।

 अनुलोम विलोंम प्राणायाम

आपने अक्सर देखा होगा कई बार आपके सिरदर्द के साथ पेट और पीठ में भी दर्द बना रहता है| दरहसल यह दर्द पेट में होने वाली गैस के कारण होता है| यदि गैस के कारण आपको सिरदर्द है तो अनुलोम विलोंम प्राणायाम करे।

 

वज्रासन

वज्रासन की मदद से आप सिरदर्द से निजाद पा सकते है| और यदि आपको माइग्रेन है, तब भी यह आसन आपको आराम पहुँचाता है| वज्रासन करने से शरीर को मजबूती मिलती है। वज्रासन को खाना खाने के कुछ देर बाद भी किया जा सकता है| इसे करने के लिए खाने के बाद कुछ देर रुकें। फिर समतल जगह पर आसन बिछाकर उसपर घुटनों को मोड़कर बैठे| आपके बैठने की स्तिथि इस तरह से होनी चाहिए की पैरों के पंजे पीछे की ओर हो जाएं और नितंब दोनों एड़ियों के बीच में रहे। 

 

शीतली प्राणायाम

शीतली प्राणायाम भी सिरदर्द की समस्या से निजाद पाने का बेहतरीन तरीका है| इससे तनाव दूर होता है और दिमाग शांत रहता है| इस आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले तो जमीन पर सुखासन की स्तिथि में बैठ जाएं। इसके बाद जीभ को बाहर निकालें और मुंह से गहरी सांस लीजिये|

आपको सांस कुछ इस तरह से लेना है की की जीभ से होकर हवा शरीर के भीतर प्रवेश करें। इसके बाद मुंह बंद करें और नाक के छिद्रों से सांस छोड़ें। इस क्रिया को 8-10 बार तक दोहराये|

कपालभाति प्राणायाम

ठण्ड के दिनों में सर्दी की समस्याए आम है| सर्दी के कारण भी सरदर्द बने रहता है|ठण्ड के दिनों में कानो में जाने वाली शीत हवाए भी सिरदर्द का कारण बनती है| ऐसे में सर दर्द से राहत दिलाने में कपालभाति आपकी मदद कर सकता है|

 कपालभाति में श्वास को शक्ति पूर्वक बाहर छोड़ने में ही पूरा ध्यान दिया जाता है। इस आसन में श्वास को भरने के लिए प्रयत्न नहीं किया जाता है| बल्कि अपने आप जितना श्वास अन्दर जाता है उतना जाने देते है|

 

 

 

वेब डेस्क IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News