IBC-24

विधानसभा में रात भर चर्चा और बहस के बीच गिरा कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 07 Jul 2018 10:30 AM, Updated On 07 Jul 2018 10:30 AM

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में कांग्रेस की ओर से लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ध्वनिमत से अस्वीकृत हो गया। विधानसभा में अविश्वास पर रात भर चर्चा और बहस होती रही। लगातार करीब 14 घंटे 8 मिनट तक चर्चा हुई और इस दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी बहस भी हुई। मंत्रिमंडल के सदस्यों ने सदन में अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई और विपक्ष के विधायकों ने सरकार की कमियों को गिनाते हुए सरकार पर अविश्वास जताया।

पढ़ें- कांग्रेस के व्हॉट्सएप ग्रुप में अश्लील वीडियो, अश्लील क्लिप पर होते रहे कमेंट

अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए संसदीय कार्यमंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि ये कांग्रेस की अकर्मण्यता का अविश्वास प्रस्ताव है। नेता प्रतिपक्ष सिंहदेव ने कहा कि महिलाएं लापता हो रही हैं। देश में सबसे ज्यादा गरीबी छत्तीसगढ़ में है। 18.99 प्रतिशत झुग्गी झोपड़ी छत्तीसगढ़ में है। शराब बेचने में छत्तीसगढ़ नंबर वन है।

ये भी पढ़ें- शिक्षा का मंदिर शर्मसार, छात्रा से प्राचार्य सहित 18 लोगों पर रेप का आरोप

अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने 15 साल के कार्यकाल में 5 बार अविश्वास लाया है। कांग्रेस का अविश्वास प्रस्ताव 168 बिंदुओं से सिमटकर 15 बिंदुओं तक आ गया। एक भी आरोप का सबूत पेश नहीं कर पाना विपक्ष की असफलता है। उन्होंने कहा कि मोदी जी की आंधी तूफान से देश में खलबली मची है। कांग्रेस, बसपा और गोंगपा के सामने षाष्टांग कर रही है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ स्टार्टअप प्रदेश है, जिसमे दौड़ने की क्षमता है। चौथी बार भी सरकार बनाने के दावे के साथ रमन सिंह ने सदन में 65 प्लस के नारे को दोहराया।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : CG News:

ibc-24