News

गुफा में फंसे फुटबॉल खिलाड़ियों को निकालने बनाई गई नई योजना,15 दिनों से गुफा में फंंसे हैं खिलाड़ी

Created at - July 8, 2018, 10:52 am
Modified at - July 8, 2018, 10:57 am

थाईलैंड। थाईलैंड के गुफा में 15 दिन से फंसे 12 फुटबॉल खिलाड़ी और उनके कोच को निकालने का प्रयास जोरों पर है। लेकिन खराब मौसम में रेस्क्यू ऑपरेशन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन खिलाड़ियों का नेवी सील ने पता लगाया था। ये खिलाड़ी 23 जून से इस गुफा के भीतर फंसे हैं, जिसके चारों ओर पानी भरा है। इस बीच थाई अधिकारियों ने रविवार को कहा कि अब वे सबसे पहले उत्तरी थाईलैंड में गुफा के आसपास के क्षेत्र को खाली करने की योजना बना रहे हैं, जिससे खिलाड़ियों और उनके कोच को बचाने का काम किया जा सके।

ये भी पढ़ें- मासूमों से ज्यादती:पानी पीने के बहाने घर में घुसकर नाबालिग से रेप,4 साल की बच्ची से रेप की कोशिश

यह घोषणा तब हुई है जब रविवार की सुबह देश के उत्तरी पहाड़ बारिश की चपेट में आ गए। खिलाड़ियों और उनके 25 वर्षीय कोच को बचाने के लिए बचाव दल को पानी और समय के साथ जंग लड़नी पड़ रही है। गुफा में फंसे फुटबॉल खिलाड़ियों की उम्र 11 से 16 साल के बीच है। गुफा के भीतर पानी भरा हुआ है और बाहर आने के लिए 5-6 घंटे तक का वक्त लग सकता है। गोताखोर ऑक्सीजन सिलंडर के साथ तैरकर अंदर जा सकते हैं लेकिन बच्चों के लिए सिलेंडर के साथ इतने लंबे वक्त तक तैरना मुमकिन नहीं होगा। साथ ही बच्चे काफी थके हुए हैं और खाने की कमी की वजह से कमजोर भी हो गए हैं। ऐसे में अगर बारिश की वजह से पानी का स्तर बढ़ जाता है तो बच्चों को निकालना मुश्किल होगा। जानकारी के मुताबिक एक बच्चे को गुफा से बाहर लाने के लिए कम से कम 2 गोताखोर लगाने होंगे।

ये भी पढ़ें- अमेरिका के रेस्टोरेंट में फायरिंग से भारतीय छात्र की मौत

गुफा में ट्यूब डालकर बच्चों के बाहर निकालने के उपाय पर भी विचार किया जा रहा है। स्थानीय कंस्ट्रक्शन कंपनी ने बचाव दल को सुझाव दिया है कि वह बाहर से भीतर तक जाने वाले ट्यूब के रास्ते बच्चों को बाहर ला सकते हैं। यह ट्यूब पानी के भीतर डाले जाएंगे जिनके अंदर पानी नहीं होगा. लेकिन इसके भीतर भी ऑक्सीजन की कमी और घुटन से जूझना पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें- गुफा में फंसे खिलाड़ियों को निकालने ऑपरेशन जारी, कोच ने पैरेंट्स से मांगी माफी

बचाव दल ने गुफा के ऊपर पहाड़ पर चिमनियां बनाकर बच्चों को बाहर निकालने की कोशिश पर भी काम करना शुरू कर दिया है. इसके लिए 100 से ज्यादा चिमनियां तैयार की गई हैं। इन्हें 400 मीटर गहाराई तक डाला जाएगा लेकिन इस काम में दिक्कत यह है कि अभी तक बच्चों की लोकेशन का सटीक पता नहीं लगाया जा सका है। गुफा की गहराई इससे ज्यादा भी हो सकती है।

ये भी पढ़ें-नवाज शरीफ को 10 साल की सजा, 73 करोड़ रुपए का जुर्माना, बेटी मरियम को भी सजा

भारत समेत दुनिया के कई मुल्कों ने थाई सरकार के सामने ऑपरेशन में मदद करने की पेशकश की है। इसके अलावा नेवी सील कंमाडो से लेकर सेना और स्पेशल फोर्स को इस काम में लगाया गया है। दुनियाभर की मीडिया यहां रेस्क्यू ऑपरेशन को कवर कर पहुंची हुई है।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News