कोरबा News

सर्वे के बाद भी निगम को नहीं मिले 6 हजार 5 सौ 66 BPL परिवार..

Created at - July 8, 2018, 1:29 pm
Modified at - July 8, 2018, 1:29 pm

कोरबा। डोर टू डोर सर्वे और एक-एक वार्डो में जाकर BPL परिवारों को ढूंढने के बाद भी कोरबा नगर निगम को 9 हजार 20 परिवार नहीं मिल पाएं है। जिसमें से 6 हजार 5 सौ 66 परिवारों का तो पता ही नहीं है कि वह उस इलाके में थे भी या नहीं। दरअसल स्काई योजना का लाभ दिलाने कोरबा नगर-निगम का अमला 2007-08 की BPL सूची में दर्ज लोगों को ढूंढने का काम कर रहा है।

पढ़ें- 'रमन के गोठ’ के जरिए प्रदेश की जनता से 35वीं बार रूबरू हुए सीएम रमन

ऐसे में नगर निगम ने इन हितग्राहियों की एक सूची तैयार की है। जिसमें 5 सौ 65 परिवारों को मृत बताया गया है। जबकि 1 हजार 6 सौ 25 परिवार पलायन की श्रेणी में आ गए है। वहीं 2 सौ 64 ऐसे परिवार है। जो अब एपीएल की श्रेणी में आ चुके है। लेकिन राजस्व, इंजीनियर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के संयुक्त सर्वे के बाद भी नगर-निगम 6 हजार 5 सौ 66 हितग्राहियों को अब तक ढूंढ नहीं पाया है। जिससे निगम भी हैरान है और मामले की समीक्षा के बाद कार्रवाई की दलील दे रहा है।।

पढ़ें- इंदौर में इंडिगो फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग, यात्री को आया हॉर्ट अटैक

बालोद में युवकों की करीब डेढ़ महीने की मेहनत अब रंग लाने लगी है 12 युवकों की टोली के साथ रेड क्रॉस सोसाइटी, स्काउट-गाइड के बच्चे और मनरेगा में काम करने वाली महिलाओं ने जी-जान लगाकर तांदुला का रूप बदल दिया जिससे नदी अब लोगों के उपयोग के लायक बन गई है।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News