News

जापान में बाढ़ से 141 लोगों की मौत, 11 हजार घरों में बिजली गुल

Created at - July 10, 2018, 1:28 pm
Modified at - July 10, 2018, 1:28 pm

टोक्यो। जापान में बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से मौत का आंकड़ा 141 तक पहुंच गया है। प्राकृतिक आपदा में कई लोग लापता है। रेस्क्यू टीम पीड़ित परिवार और लापता लोगों को खोज रही है। जलजले में फंसे लोगों की मदद के लिए 70 हजार से ज्यादा आपातकालीन कर्मचारियों को तैनात किया है। 

ये भी पढ़ें- छिंदवाड़ा में नाबालिग से गैंगरेप, महिलाओँ के लिए महफूज नहीं देश का दिल

सरकार के प्रवक्ता योशिहिदे सुगा ने बताया कि पुलिस, फायर ब्रिगेड और सेना के करीब 73,000 जवान राहत और बचाव कार्यों में जुट हैं। राहत और बचाव अभियान में 700 हेलिकॉप्टरों की मदद भी ली जा रही है।

पढ़ें-घर में छुपे 5-6 आतंकी, मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर

बाढ़ से मची तबाही के बाद जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अपनी विदेश को रद्द कर दिया है। आबे बेल्जियम, फ्रांस, सऊदी अरब और मिस्र की यात्रा पर जाने वाले थे। वह इस हफ्ते बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर सकते हैं।

पढ़ें- मुंबई में बारिश से हालात बिगड़े, रेल-सड़क पानी-पानी, स्कूलों में छुट्टियां

हालांकि राहत की बात यह रही है कि पिछले कई दिनों से जापान के दक्षिणी-पश्चिमी इलाके में आफत मचाने के बाद बारिश रुक गई है। सोमवार को आसमान साफ दिखाई दिया और सूरज आम दिनों की तरह निकला। लेकिन, तबाही का मंजर चारों ओर पसरा हुआ है। बाढ़ और भूस्खलन के चलते राहतकर्मियों को अभियान चलाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

पढ़ें- मुंबई में बारिश से हालात बिगड़े, रेल-सड़क पानी-पानी, स्कूलों में छुट्टियां

बारिश, बाढ़ की वजह से लगभग 11,200 घरों में बिजली नहीं है और हजारों घरों में पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है। बारिश और बाढ़ से लोगों के घर बर्बाद हो गए हैं। कार, घर के सब सामान बह गए। बारिश ने पूरे इलाके को बर्बाद कर दिया है।

सोमवार को बचावकर्मियों ने कीचड़ में फंसे हुए जिंदा लोगों और शवों को बाहर निकाला। एक अधिकारी ने बताया है कि जल स्तर धीरे धीरे घट रहा है और इससे आपातकालीन टीमों को सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों तक पहुंच पाएंगी। बता दें कि इस बाढ़ की वजह से सबसे ज्यादा मौतें हिरोशिमा में हुई हैं।

 

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News