IBC-24

स्वस्थ रहना है तो अपनाएं ये आसन

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 10 Jul 2018 01:34 PM, Updated On 10 Jul 2018 01:34 PM

आम तौर पर योग का मतलब हम एक्ससाइज से लगाते है।सामान्य व्यक्तियों की ये सोच होती है कि योगा सिर्फ शारीर में स्फूर्ति के लिए ही किया जाता है लेकिन आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि योग एक ऐसा उपचार है जिसे कर हम अपने शरीर की कई बीमारियों को भी खत्म कर सकते है ।अगर आप वजन कम करने की सोच रहें हैं। तो अपनाये ये एक्ससेसाइज। 

ऐसे तो बहुत से आसन है जो मोटापा कम करने में सहायक होते हैं। योग की सबसे अच्छी बात यह है की व्यायाम के पशच्यात पहले की अपेक्षा ज्यादा ताजगी और उत्साह का अनुभव होता है। योग एक धीमी प्रक्रिया है यह इतनी आसानी से मोटापा कम करता है जैसे चाकू से मक्खन कट रहा हो। अब कुछ सबसे अच्छे आसनों पर नजर डालते हैं। 

सूर्य नमस्कार

बारह आसन जो एक क्रम में किए जाते हैं, संयुक्त रूप से सूर्य नमस्कार कहलाता है। ये आसन बहुत प्रभावी होते है जिसकी वजह से सूर्य नमस्कार मोटापे के लिए यह सबसे अच्छा योग है। इसका प्रभाव पूर्ण शरीर पर पड़ता है विशेष रूप से जहाँ माँस पेशियों का बड़ा समूह होता है। इसकी शुरुआत कुछ सेट राउंड्स  द्वारा करना चाहिये और क्रमशः इन सेट की संख्या बढ़ाते जाना चाहिए। यह वजन कम करनें में सहायक होता है और इसे आसनों का राजा कहा जाता है। 

वीरभद्रासन

वीरभद्रासन से घुटने के पीछे की नस, जाँघे, पैर और टखनें मजबूत होते है, क्योकि जांघें जब आगे की ओर झुकती है तो शरीर का वजन उसके ऊपर स्थान्तरित हो जाता है। यह पेट के स्नायुओं को बल देता है जिससे आंतरिक शक्ति की बढ़ती है। आंतरिक शक्ति के बढ़ने से हम लंबे समय तक कार्यशाली बने रहते हैं।

भुजंगासन

यह आसान शरीर मेँ छाती और पीठ के लिए लाभदायक होता है। दीर्घ श्वास लेते हुए छाती को ऊपर की ओर उठाने से अधिक मात्रा में ऑक्सीजन रक्त के साथ मिलकर,शरीर के अलग अलग भागों में स्पंदित होती है। ऑक्सीजनित रक्त मोटापा कम करने में सहायक होता है। कूल्हों को पुष्ट करने में भी सहायक होता है। 

धनुरासन

यह एक आधुनिक आसान जो ना केवल मोटापा कम कम करता है बल्कि भुजाओं और पैरों को भी पुष्ट करने में भी सहायक होता है। इस आसान में पेट के स्नायुओं पर खिंचाव का अनुभव होता है। यह खिंचाव पेट के स्नायुओं को लचीला कर देता है। लगातार इस आसन को करने से पेट लचीला और वसा कम हो जाता है। 

त्रिकोणासन

पेट के स्नायुओं के साथ साथ शरीर के अन्य भागों की माँस पेशियों के लिए भी व्यायाम बहुत आवश्यक है। एक निश्चित उम्र के बाद शरीर बढना बंद कर देता है और पेट के आसपास वसा एकत्रित होने लगता है। त्रिकोणासन इन बढ़े हुए वसा को कम करनें में मदद करता है। यह आसन शायद ज्यादा कैलोरी कम ना करें पर फिर भी कमर की इंच कम करने का साधन हो सकता है। यदि अगली बार पेंट ढीली हो जाये और आपको बेल्ट पहननी पड़े तो आश्चर्यचकित मत होना।

 वेब डेस्क IBC24

 

Web Title : Yoga Tips For Weight Loss:

ibc-24