News

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में आंध्र प्रदेश अव्वल, छत्तीसगढ़ को 6वां स्थान

Created at - July 10, 2018, 7:06 pm
Modified at - July 10, 2018, 7:06 pm

नई दिल्ली। सरकार के ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में आंध्र प्रदेश पहले नंबर पर है। जबकि छत्तीसगढ़ छठवें और मध्यप्रदेश सातवें नंबर पर है। दूसरे नंबर पर तेलंगाना है। आश्चर्य की बात यह है कि आंधप्रदेश और तेलंगाना ने गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों को पीछे छोड़ दिया है, जिन्हें औद्योगिक स्टेट माना जाता है।

डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी एंड प्रमोशंस (डीआईपीपी) बिजनेस रिफॉर्म्स एक्शन प्लान, 2017 के थर्ड एडिशन के मुताबिक आंध्रप्रदेश पहले, तेलंगाना दूसरे और हरियाणा तीसरे नंबर पर है।

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ की महिला की पुणे में 11वीं मंजिल से गिरकर मौत, संदेह के आधार पर पति गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग शुरू करने के पीछे सरकार राज्यों में एक प्रतियोगिता का माहौल बनाना है। सरकार चाहती है कि बिजनेस के लिए बेहतर माहौल मुहैया कराने में राज्य एक-दूसरे से होड़ करेंगे। इसके अलावा इन रैंकिंग से यह भी पता चलता है कि जो सुधार केंद्र लागू करता है उसे राज्य अपनाकर बिजनेस हासिल कर सकते हैं।

2016 में तेलंगाना और आंध्रप्रदेश संयुक्त रूप से इंडेक्स में अव्वल आए थे। ये राज्य पहली बार गुजरात से ऊपर थे। पीएम नरेंद्र मोदी का होम टाउन गुजरात 2015 में नंबर वन था। छत्तीसगढ़ 99.46 फीसदी के साथ छठवें पायदान पर है। मध्यप्रदेश ने भी छत्तीसगढ़ के बराबर ही स्कोर किया है, लेकिन उसका नंबर सातवां है।

यह भी पढ़ें : योगी सरकार इलाहाबाद का नाम प्रयाग रखने की तैयारी में, राज्यपाल को लिखा पत्र

इस बार इस रिपोर्ट के नतीजे हैरान करने वाले हैं क्योंकि महाराष्ट्र 97.29 फीसदी के साथ 13वें नंबर पर है। यह एक ऐसा राज्य है जिसे औद्योगिक राज्य माना जाता है। ठीक इसी तरह बिजनेस हब होने के बावजूद तमिलनाडु 95.39 फीसदी के साथ 15वें नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में बिजनेस करने पहले से मुश्किल हुआ है। 2016 में दिल्ली का स्कोर 47 फीसदी था जो इस बार घटकर 33.99 फीसदी रह गया है।

यह रैंकिंग वर्ल्ड बैंक और डीआईपीपी मिलकर तैयार करती है। यह रिपोर्ट जुलाई 2016 से जुलाई 2018 के बीच 340 प्वाइंट बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान के आधार पर तैयार किया जाता है।

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News