रायपुर News

संविलियन के लिए 14-15 तारीख को प्रदेश भर में शिविर, जारी होगा शिक्षा विभाग का आईडी, सैलेरी भी एक को

Created at - July 12, 2018, 10:34 am
Modified at - July 12, 2018, 10:39 am

रायपुर। छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों के संविलियन की प्रक्रिया तेजी से निपटाई जा रही है। इस महीने की 14 और 15 तारीख को प्रक्रिया पूरी होने के बाद से सभी शिक्षाकर्मी शिक्षा विभाग के कर्मचारी हो जाएंगे। शिक्षा विभाग ने राजधानी सहित पूरे राज्य में एक ही दिन शिक्षाकर्मियों का दस्तावेजी संविलियन करने की तैयारी की है। राजधानी में गवर्नमेंट स्कूल और दानी स्कूल में दो दिन का शिविर लगाया जा रहा है। जिसमें शिक्षाकर्मियों का कर्मचारी पहचान पत्र यानी एम्प्लाई आईडी बनाई जाएगी। उनकी सेवा पुस्तिका का हस्तांरण भी शिक्षा विभाग को कर दिया जाएगा। ऐसे शिक्षाकर्मी जिनका अभी तक भविष्य निधि यानी प्रोविडेंट फंड नहीं कट रहा है, इसी दिन उनका परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर भी जनरेट कर दिया जाएगा। शिविर में पेन कार्ड और बैंक की पासबुक की फोटो कॉपी के साथ लाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही अगस्त की पहली तारीख से शिक्षाकर्मियों को नियमित रूप से वेतन मिल सकेगा। उन्हें कर्मचारी पहचान नंबर यानी एम्प्लाई आईडी नंबर दिया जाएगा। उनकी सेवा पुस्तिका का संधारण किया जाएगा। जो कमी रह गई, उसे दूर किया जाएगा। परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर के लिए शिक्षाकर्मियों से आवेदन लेकर जनरेट करेंगे। वेतन आहरण के लिए व्यक्तिगत डेटा कोड बनाया जाएगा।

पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती कहा या तो ताज संभाल लीजिये या ढहा दीजिये

शहरी और नगरीय निकाय के स्कूलों के लिए शनिवार और ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षाकर्मियों के लिए रविवार को शिविर लगाएं जाएंगे। शिविर में स्कूलवार प्रक्रिया निपटाए जाएंगे। प्राचार्यों और प्रधान पाठकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने स्कूल के सभी शिक्षाकर्मियों को लेकर एक साथ शिविर में पहुंचे। राज्य सरकार ने अप्रैल 2012 से प्रोविडेंट फंड कटाने का फैसला लिया था। तकनीकी कारणों से जहां कटौती नहीं हो पा रही है और पीएफ का पैसा पंचायतों में जमा है। उनका पैसा 2012 से कटेगा।

शिक्षाकर्मियों के शिविर में सभी को अपना एम्प्लाई डाटा फार्म भरकर लाना होगा। फार्म राज्य के सभी विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में उपलब्ध करवाए गए हैं। शिक्षाकर्मी संगठन के प्रमुखों को भी फार्म दिए जा चुके हैं।  शिक्षाकर्मी वर्ग-1 शिक्षक व्याख्याता कहलाएंगे। शिक्षाकर्मी वर्ग-2 व वर्ग-3 सहायक शिक्षक कहलाएंगे। केवल संवर्ग में अंतर रहेगा। अभी स्कूलों के नियमित शिक्षकों का सवंर्ग है। शिक्षाकर्मियों का संवर्ग एलबी होगा। शिक्षक व्याख्याता लोकल बॉडी व सहायक शिक्षक लोकल बॉडी लिखे और पुकारे जाएंगे।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News