अस्थमा के लिए सहायक योगा

Reported By: Renu Nandi, Edited By: Renu Nandi

Published on 13 Jul 2018 05:45 PM, Updated On 13 Jul 2018 05:45 PM

अगर आप अस्थमा जैसी हानिकारिक बीमारी से ग्रसित है.तो आपको योग का सहारा जरूर लेना चाहिए  अस्थमा के अधिकांश रोगी इस बीमारी से निपटने के लिए अनेक नुस्खें अपनाते हैं लेकिन एक सरल उपाय का इस्तेमाल करना हमेशा भूल जाते हैं.अस्थमा को दूर करने में बहुत से आसन सहायक होते हैं। अस्थमा के मरीज इस बीमारी पर अगर काबू पाना चाहते हैं तो कुछ आसन को अपने दिनचर्या में शामिल करना जरुरी है। 

नाड़ी शोधन प्राणायाम

अपने मन और शरीर को तनावमुक्त करने के लिए इस प्राणायाम से शुरुआत करें| इस सांस लेने की तकनीक के द्वारा कई श्वसन और परिसंचरण संबंधी समस्याओं का समाधान मिल जाता है|

 

कपाल भाती प्राणायाम

यह साँस लेने की तकनीक मन को शांत करती है और तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करती है। यह सभी नाड़ियों (ऊर्जा चैनल) को भी साफ करता है और रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।

 

अर्ध मत्स्येंद्रासन

अर्ध मेरुदंड मरोड़ आसन छाती को खोलता है और फेफड़ों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को सुधारता है, जिससे आपको अस्थमा की संभावना कम हो जाती है। 

पवनमुक्तासन

अस्थमा के रोगियों के लिए यह योगासन अच्छा है क्योंकि यह उदर के अंगों की मालिश करता है और पाचन में और गैस के निर्गमन में मदद करता है।

 

सेतुबंधासन

सेतुमुद्रा छाती और फेफड़ों को खोलता है और थायरॉयड की समस्या को कम करता है। यह भी पाचन में सुधार लाता है और अस्थमा के रोगियों के लिए बहुत प्रभावी है।

भुजंगासन (कोबरा मुद्रा)

कोबरा मुद्रा छाती का विस्तार करती है, रक्त परिसंचरण में सुधार करती है और अस्थमा के रोगियों के लिए बहुत लाभदायक है|

अधोमुख श्वानासन

यह मुद्रा मन को शांत करने में मदद करता है, तनाव से राहत देता है और अस्थमा और साइनेसाइटिस से पीड़ित लोगों के लिए अच्छा है।

तितली आसन (बद्धकोणासन)

तितली आसन रक्त परिसंचरण को उत्तेजित करता है और उसमें सुधार करता है, थकान से राहत देता है और अस्थमा पर चिकित्सीय प्रभाव ड़ालता है।

पूर्वोत्तानासन

ऊपर की ओर तख्त के सदृश्य मुद्रा श्वसन प्रणाली में सुधार लाता है, थायरॉइड ग्रंथि को उत्तेजित करता है और कलाई, भुजाओं, पीठ और मेरुदंड को मजबूत करता है।

 

श्वासन

श्वासन में कुछ मिनट लेटकर अपना योग अभ्यास समाप्त करें ।यह मुद्रा शरीर को ध्यान अवस्था में लाती है, आप को पुनर्जीवित करती है और चिंता और मानसिक दबाव को कम करने में भी मदद करती है।एक शांत और तनावमुक्त शरीर और मानसिकता अस्थमा से निपटने का सही तरीका है|

 

वेब डेस्क IBC24

 

Web Title : yoga for asthma:

ibc-24