रायपुर News

ट्रांसपोर्टरों की अनिश्चितकालीन हड़ताल, 90 हजार भारी वाहनों के थम गए पहिए

Created at - July 20, 2018, 8:43 am
Modified at - July 20, 2018, 8:43 am

रायपुर। आज सुबह से छत्तीसगढ़ समेत देशभर के भारी वाहनों के चक्के अनिश्चितकाल के लिए थम गए हैं। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के सदस्य अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने वाले हैं। इस हड़ताल को छत्तीसगढ़ के सभी परिवहन संघों ने समर्थन दिया है। हड़ताल के चलते सुबह से ही प्रदेशभर के 90 हजार भारी वाहनों के चक्के थम गए हैं। आपको बता दें कि डीजल की बढ़ती कीमतें, टोल नाकों पर वसूली, ई-वे बिल समेत 6 मांगों को लेकर देशभर के टांसपोट कांग्रेस ने औऱ परिवहन यूनियनों ने देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। छत्तीसगढ़ के सभी परिवहन संघों ने कुछ दिन पहले एक होटल में बैठक बुलाकर इस हड़ताल को समर्थन देने की घोषणा की थी।

पढ़ें- दमोह के दरिंदे का सीसीटीवी फुटेज जारी, आरोपी पर 25 हजार का इनाम ...देखें वीडियो 

अपनी मांगों को लेकर ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के आह्वान पर ट्रक मालिक आज से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जा रहे हैं। हड़ताल से दैनिक उपयोग की वस्तुओं की आपूर्ति तो बाधित होगी ही, इसके अलावा इस सेक्टर से जुड़े देशभर के 12 करोड़ लोगों के समक्ष रोजी-रोटी का संकट भी पैदा हो जाएगा। हड़ताल में मप्र के 250 और देशभर के 13 हजार सदस्य शामिल हैं।

पढ़ें- छत्तीसगढ़ के पहले वित्तमंत्री रामचंद्र सिंहदेव का निधन, कांग्रेस भवन में दी जाएगी श्रदांजलि

यह मांग है ट्रक मालिकों की-

डीजल की कीमतें कम होने के साथ ही जीएसटी के दायरे में लाया जाए। राष्ट्रीय स्तर पर सामान मूल्य निर्धारण और डीजल कीमतों में त्रैमासिक संशोधन हो टोल बैरियर मुक्त भारत। तृतीय पक्ष बीमा प्रीमियम (टीपीपी) निर्धारण में पारदर्शिता, इस पर जीएसटी की छूट और कोम्प्रेहेंसिव पॉलिसी के माध्यम से एजेंटों को भुगतान किए जा रहे अतिरिक्त कमीशन को समाप्त करना। ट्रांसपोर्ट व्यवसाय पर टीडीएस समाप्त किया जाए। आयकर अधिनियम की धारा 44 एई में अनुमानित आय में कमी और ई-वे बिल जुड़ी समस्याओं को हल किया जाए। बसों और पर्यटन वाहनों के लिए नेशनल परमिट। डायरेक्ट पोर्ट डिलीवरी (डीपीडी) योजना समाप्त हो, पोर्ट कंजेशन भी समाप्त होना चाहिए।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News