News

बुखार आने पर इस योगासन से मिलेगी राहत

Created at - July 23, 2018, 5:20 pm
Modified at - July 23, 2018, 5:20 pm

बुखार एक सामान्‍य समस्‍या है जो किसी भी वक्‍त हो सकती है, इससे आराम पाने के लिए जरूरी नहीं दवाओं का सेवन किया जाये, बल्कि योग के कुछ आसन ऐसे भी हैं जो इसके लक्षणों से आराम पहुंचाते हैं।

योग और बुखार

बदलते मौसम में बुखार हो जाना आम बीमारी होती है। आमतौर पर बुखार बैक्टीरियल इंफेक्शन या वातावरण में बदलाव के कारण होता है। जब हमारा प्रतिरक्षा तंत्र (इम्यून सिस्टम) ठीक से काम नहीं करता तब बैक्‍टीरिया हमारे शरीर पर हावी होकर इसे बीमार बना देते हैं। इससे शरीर का तापमान बढ़ जाने के साथ ही गला खराब होना, शरीर में दर्द, सरदर्द आदि समस्याएं होती हैं। ऐसे में जरूरी नहीं आप दवाओं का सेवन करें, बल्कि दवाओं की जगह आप योग के आसन आजमायें, इससे शरीर का तापमान सामान्‍य होगा और बुखार के लक्षणों के आराम भी मिलेगा।

 

 

कपालभाति प्राणायाम

ये नाक के रास्ते को साफ करे वाला योगासन है। नियमित इसका अभ्‍यास करने से कई बीमारियों के होने की संभावना कम होती है। रोज नियम से 3 से 5 मिनट कपालभाति प्राणायाम करने से नींद भी अच्छी आती है। इसे करने के लिए सुखासन या पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं, फिर लंबी सांस लें। अब सांस को छोड़ें जिससे पेट पर जोर पड़े। इसे करने से आपके शरीर के 80 फीसदी विषाक्‍त पदार्थ बाहर निकल जाते है।

 

अनुलोम-विलोम प्राणायाम

अनुलोम-विलोम से शरीर की सफाई होती है और पूरा शरीर शुद्ध हो जाता है। ये सर्दी से बचाता है। इस आसन के लिए सुखासन में बैठ जाएं। फिर दाएं हाथ के अंगूठे से नाक का दाया छिद्र बंद करें और सांस भीतर की ओर खींचे। फिर उसी हाथ की दो उंगलियों से बाईं ओर का छिद्र बंद कर दें और अंगूठा हटाकर दाईं ओर से सांस छोड़ें। इसी प्रक्रिया को फिर नाक के दूसरे छिद्र से दोहराएं। 

 

 

 

वेब डेस्क IBC24


Download IBC24 Mobile Apps