IBC-24

सांप के डसने से बच्ची की मौत, अस्पताल के बजाए बैगा के पास ले गए परिजन

Reported By: Abhishek Mishra, Edited By: Abhishek Mishra

Published on 02 Aug 2018 03:57 PM, Updated On 02 Aug 2018 03:57 PM

राजिम। देश जहां आधुनिकता के दौर में विकास की कई इबारतें रच रहा है तो वहीं आज भी कई गांव के लोग अंधविश्वास के अंधेरे में जी रहे हैं। राजधानी से सटे फिंगेश्वर में जहरीले सांप के काटने के बाद परिजनों की लापरवाही से एक बच्ची की जान चली गई। परिजनों ने बच्ची को अस्पताल ले जाने के बजाए झाड़फूंक कराने बैगा पास ले गए। जहां बच्ची की तबीयत और बिगड़ गई। जहर बच्ची के पूरे शरीर में फैल गया था। 

पढ़ें- अश्लील तस्वीरें आने की घटना से जागा प्रशासन, टैबलेट्स पर रोक लगाने के आदेश जारी

दरअसल  फिंगेश्वर के ग्राम कुंडेल में 8 वीं कक्षा में पढ़ने वाली शारदा निर्मलकर को 1 अगस्त की रात जहरीले सांप ने काट लिया था, जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल की जगह झाड़-फूंक करने वाले बैगा के पास ले गए, जहां उसकी हालत और बिगड़ गई। इसके बाद उसे फिंगेश्वर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया, लेकिन तब तक जहर पूरे शरीर में फैल चुका था, जिसके चलते उसे बचाया नहीं जा सका। परिजन अगर बच्ची को अस्पताल ले जाते तो जरूर बच्ची की जान बच जाती। 

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Negligence Case:

ibc-24