News

भारतीय मूल के वेंकटेश को गणित का नोबेल ‘फील्ड्स मेडल’, 3 अन्य ग़णितज्ञ को भी, एक का मिलते ही चोरी

Created at - August 2, 2018, 8:26 pm
Modified at - August 2, 2018, 8:27 pm

न्यूयॉर्क। गणित का नोबेल कहे जाने वाले फील्ड्स मेडल से इस बार भारतीय मूल के गणितज्ञ अक्षय वेंकटेश को नवाजा गया है। दिल्ली में जन्मे अक्षय को गणित में विशिष्ट योगदान के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया गया। वह दो साल की उम्र में अपने माता-पिता के साथ दिल्ली से ऑस्ट्रेलिया जाकर बस गए थे।

वेंकटेश के अलावा यह पुरस्कार पाने वालों में कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के कौचर बिरकर, स्विस फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी के एलिसो फिगासी और बॉन यूनिवर्सिटी के पीटर स्कूल्ज शामिल हैं। कुर्द शरणार्थी से कैंब्रिज विश्वविद्यालय में गणित के प्रोफेसर बने कौचर बिरकर गणित के क्षेत्र का नोबेल फील्ड्स मेडलमिलने के कुछ ही मिनट में चोरी हो गया

यह भी पढ़ें : बीजेपी नेता के बिगड़े बोल, कहा- ‘…अन्यथा बलात्कार तो कांग्रेसी भी किया करते थे’

फील्ड्स मेडल पुरसकास समारोह रियो डी जेनेरियो में बुधवार को गणितज्ञों की अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस आयोजित किया गया। वेंकटेश अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं। बता दें कि फील्ड्स मेडल चार वर्ष में एक बार दिया जाता है। इस पुरस्कार के लिए 40 साल से कम उम्र के दो से चार प्रतिभाशाली गणितज्ञ चुने जाते हैं। सभी विजेताओं को सोने का मेडल और 15-15 हजार कनाडाई डॉलर (करीब आठ लाख रुपये) का नकद पुरस्कार दिया जाता है।

वेंकटेश फील्ड्स मेडल जीतने वाले दूसरे भारतवंशी हैं। इससे पूर्व 2014 में मंजुल भार्गव ने यह प्रतिष्ठित पुरस्कार जीता था। वह अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं। वेंकटेश ने ज्यामिति समेत अंकगणित के कई सिद्धांतों पर काम किया है। वह अपने शोध कार्यो के लिए कई पुरस्कारों से नवाजे जा चुके हैं। वह भारत के रामानुजन पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुके हैं।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps