News

कल्पेश याग्निक सुसाइड केस में महिला पत्रकार सलोनी अरोड़ा को हिरासत में लिया गया

Created at - August 5, 2018, 3:53 pm
Modified at - August 5, 2018, 6:25 pm

मुंबई। पत्रकार कल्पेश याग्निक की हत्या के मामले में महिला पत्रकार सलोनी अरोड़ा को पुलिस ने हिरासत में लिया है।  इंदौर पुलिस ने 21 जुलाई को इस मामले में सलोनी अरोड़ा के खिलाफ केस दर्ज किया था। जांच के सबूतों के आधार पर इंदौर की एमआईजी थाना पुलिस ने मुंबई में कार्यरत इस महिला फिल्म पत्रकार के खिलाफ धारा 503, 386, 67 आईटी एक्ट की धारा 306 के तहत प्राथमिकी दर्ज किया था। 

पढ़ें- कोरबा को सिपेट की सौगात, युवाओं को प्लास्टिक इंजीनियरिंग में मिलेंगे रोजगार के अवसर

पुलिस के मुताबिक, महिला पत्रकार सलोनी कल्पेश याग्निक से 5 करोड़ रुपये की मांग कर रही थी और रूपये न देने पर बलात्कार के आरोप में फंसाने की धमकी दे रही थी। बता दें कि कल्पेश याग्निक के परिजनों ने उनकी मौत को दिल का दौरा मानने से इनकार करते हुए जांच की मांग की थी। इसके बाद पुलिस ने याग्निक के मोबाइल, टैबलेट और कम्प्यूटर को जांच के लिए फॉरेंसिक प्रयोगशाला में भेज दिया था।

पढ़ें- कांग्रेस में 90 विधानसभा सीट के लिए 7 सौ से ज्यादा दावेदार, स्क्रूटनी का संकट

कॉल अटेंड ना करने पर सलोनी कल्पेश को धमकी देती थी कि वो यूट्यूब पर सेक्स स्कैंडल की वीडियो-ऑडियो की लिंक अपलोड कर देगी। यह पर्दाफाश एमआइजी पुलिस की जांच में हुआ है। पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की कड़िया जोड़ लीं और परिजनों के बयान के बाद सलोनी के खिलाफ एफआइआर दर्ज की। 55 वर्षीय कल्पेश याग्निक ने 13 जुलाई को एबी रोड स्थित कार्यालय की तीसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। गुरुवार देर रात भाई नीरज याग्निक के बयान दर्ज करवाए गए। उन्होंने बताया कि उनके भाई ने पत्रकार सलोनी अरोड़ा के कारण आत्महत्या की है। वह उनसे पांच करोड़ की मांग कर ब्लैकमेल कर रही थी।

 

 वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News