राजनांदगांव News

गर्भ में जिंदा शिशु को बताया मृत,निजी अस्पताल में प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित

Created at - August 6, 2018, 2:00 pm
Modified at - August 6, 2018, 8:25 pm

राजनांदगांव। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉक्टर पर गर्भ में पल रहे जिंदा शिशु को मृत बता देने का आरोप लगा है। डॉक्टर ने प्रसव पीड़ा के साथ पहुंची महिला और उसके परिजनों को ये कहकर लौटा दिया कि उसके गर्भ में पल रहा शिशु मृत हो चुका है और उन्हें रायपुर जाने को कह दिया।

पढ़ें- पढ़ें- विधानसभा की मिट्टी अमरनाथ में चढ़ाकर लौटे रामलाल,कहा- चौथी बार भी रमन की होगी सरकार

लेकिन महिला को लेकर उसके परिजन राजनांदगांव के ही निजी अस्पताल में ले गए। जहां महिला ने एक स्वस्थ शिशु को जन्म दिया है। घटना चार अगस्त की सुबह की बताई जा रही है, जब चिचोला क्षेत्र के बाबूटोला गांव से लीला बाई सिन्हा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में डिलीवरी के लिए पहुंची।

पढ़ें- सुरक्षाबलों ने 14 नक्सलियों को मार गिराया, 4 आईईडी के साथ 16 हथियार जब्त

लीला बाई को दिनभर वार्ड में भर्ती रखा गया और शाम 4 बजे डाक्टरों ने गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो जाने की बात कही। साथ ही जल्दी ऑपरेशन के लिए उसे रायपुर ले जाने की सलाह दी। परिजनों ने महिला की हालत देखी और रायपुर ले जाने की बजाय उसे राजनांदगांव के ही एक निजी अस्पताल में ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसका सुरक्षित प्रसव कराया। जन्म के बाद शिशु भी स्वस्थ है। अब मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉक्टरों के जिंदा शिशु को मृत बता दिए जाने के मामले में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है। 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News