News

बीस मिनट में बदल गई दो मछुवारों की किस्मत, एक मछली ने बनाया लखपति

Created at - August 7, 2018, 2:42 pm
Modified at - August 7, 2018, 2:42 pm

मुंबई। मुंबई के तट में बीस मिनट में एक मछुआरा लखपति बन गया। मछली पकड़ रहे मछुआरे के जाल में घोल मछली फंस गई। घोल मछली अपनी औषधीय गुणों के कारण बहुत महंगी बिकती है। औषधीय गुणों के कारण इस मछली की कई देशों में बड़ी डिमांड रहती है। मुछआरे के जाल में फंसी मछली का वजन करीब 30 किलो था। मछुआर ने मछली को बेचकर करीब 5.5 लाख रूपए कमाए। पकड़ी गई घोल मछली को सिंगापुर, मलेशिया, इंडोनेशिया, हॉन्ग कॉन्ग और जापान को निर्यात किया जाता है। आपको बता दें ये मछली 800 से रुपए से लेकर 1000 रूपए प्रति किलो तक बिकती है।   

पढ़ें-जम्मू कश्मीर में घुसपैठ कर रहे चार आतंकी ढेर, सेना के 4 जवान भी शहीद

घोल मछली की स्किन को उच्च क्वालिटी कोलेजन का अच्छा स्रोत माना जाता है। इससे फंक्शनल फूड और कॉस्मेटिक उत्पाद और दवाई भी बनाई जाती है। इसके पंखों का इस्तेमाल फार्मास्यूटिकल कंपनियां घुलने वाले टांके और वाइन शुद्धिकरण के लिए इस्तेमाल करती हैं। इसी वजह से घोल की वैश्विक मांग लगातार बढ़ रही है।

पढ़ें- डिप्टी कमिश्नर पर महिला कर्मी ने लगाया रेप और MMS बनाकर ब्लैकमेल करने का आरोप

 07-Aug-18 

जैसे ही मेहर भाईयों के जाल में यह मछली फंसी, यह खबर आग की तरह फैल गई। इसके बाद दोनों जैसे ही तट पर पहुंचे मछली को खरीदने वालों की लाइन पहले से ही लगी हुई थी। 20 मिनट चली निलामी में उन्हें इस मछली के 5.5 लाख रुपए मिल गए। पालघर के पास एक छोटी सी नाव में मछली पकड़ रहे मछुआरे भाईयों को मालूम नहीं था कि पल भर में वो लखपती बन जाएंगे। दोनों आम दिनों की तरह मछली पकड़ने के लिए घर से निकले थे। लेकिन सौभाग्य से उन्हें यह मछली मिल गई जो पूर्वी एशिया में अपने अंदरुनी अंगों से बनने वाले औषधीय गुणों के लिए जानी जाती है। 

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News