News

विपक्ष ने राज्यसभा में फिर अमित शाह को बोलने नहीं दिया, हंगामे के बाद स्थगित

Created at - August 7, 2018, 5:22 pm
Modified at - August 7, 2018, 5:22 pm

नई दिल्ली। राज्यसभा में मंगलवार को अपनी बात रख रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को एक बार फिर विपक्ष के जोरदार विरोध का सामना करना पड़ा। विपक्ष ने उन्हें बोलने नहीं दिया। शाह पिछले माह ही केंद्र सरकार के बढ़ाए हुए एमएसपी पर अपनी बात रख रहे थे कि टीएमसी सदस्यों ने हंगामा शुरु कर दिया। टीएमसी सांसद शोर मचाते हुए आसंदी तक पहुंच  गए। हंगामे के कारण पहले तो सदन की कार्यवाही 2 बार स्थगित करनी पड़ी, उसके बाद सदन दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया।

इससे पहले पिछले सप्ताह शाह को एनआरसी के मुद्दे पर भी विपक्ष ने बोलने नहीं दिया था और सदन में हंगामा किया था। हालांकि अपने भाषण के दौरान शाह किसानों के लिए केंद्र की मोदी सरकार के कार्यों का उल्लेख कर रहे थे। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों के लिए काफी काम किय है। सरकार दलितों और किसानों के लिए काम कर रही है। कृषि क्षेत्र पर मानचित्र को बदलने का प्रयास किया है। सिर्फ योजनाओं देकर सरकार आगे नहीं बढ़ रही है। सरकार 2022 में किसानों की आय दोगुना करने का प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार एक साथ 3 महिला न्यायाधीश

अपने भाषण में शाह ने विपक्ष पर तंज भी कसा। उन्होंने कहा, 'कुछ टिप्पणियां आईं कि यह असंभव है। सबकी अपनी-अपनी सोच है। लेकिन सरकार जो प्रयास कर रही है वह आंकड़ों की दृष्टि से भी दिखाई दे रही है। हमने कृषि बजट में 75 फीसदी की वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि 2009-14 तक कृषि के लिए बजट 1 लाख 21 हजार 82 करोड़ था वहीं, 2014-18 तक यह बजट बढ़कर 2 लाख 11 हजार 684 करोड़ रुपये पहुंच गया’।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News