रायपुर News

चरणदास महंत के चुनाव लड़ने को लेकर सस्पेंस बरकरार, अब तक नहीं की दावेदारी

Created at - August 8, 2018, 9:27 am
Modified at - August 8, 2018, 10:46 am

रायपुर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने विधानसभा चुनाव के लिए दावेदारी का फार्म नहीं भरे हैं। सक्ती विधानसभा सीट से डॉ. महन्त के चुनाव लड़ने की चर्चा रही है, लेकिन दावेदारी फार्म नहीं जमा करने से अब उनके विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर सस्पेंस है। जांजगीर जिले की 6 विस सीटों में 180 से अधिक कांग्रेस नेताओं ने दावेदारी फार्म जमा किया है।

पढ़ें- करूणानिधि के निधन पर सात दिनों का शोक, मरीना बीच पर दफनाने को लेकर विवाद

खास बात ये है कि अकेले सक्ती विस से 60 कांग्रेस नेताओं ने दावेदारी फार्म जमा किया है। ऐसे में कई तरह कयास लगाए जा रहे हैं कि वे चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं है। हालांकि कांग्रेस में टिकट बंटवारा अनिश्चितताओं से भरा होता है, ऐसे में बिना फार्म जमा किये ही आलाकमान के निर्देश पर महंत को टिकट भी दी जा सकती है।लेकिन पार्टी ने टिकट बंटवारे का जो इस दफा प्रारूप तैयार किया था, उसके आधार पर डॉ. चरण दास महंत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। आपको बता दें कि पिछली बार भी वे विधानसभआ चुनाव नहीं लड़े थे। 

पढ़ें- हाईकोर्ट ने मांगा प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों के प्रबंधन सहित दानराशि और सुविधाओं का ब्यौरा

एक अगस्त से शुरू हुए दावेदारों के लिए फार्म भरने की प्रक्रिया का मंगलवार को आखिरी दिन था। लेकिन महंत ने अपना फार्म आखिरी वक्त तक जमा नहीं कराया। हालांकि, पहले ये दावा किया जा रहा था कि डॉ. चरणदास महंत, सक्ती विस सीट से अपनी दावेदारी कर सकते हैं। काफी दिनों से उनके सक्ती सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा रही है, लेकिन देर शाम फार्म जमा करने की मियाद खत्म होने तक महंत ने अपना फार्म ना तो ब्लाक अध्यक्ष और ना ही जिलाध्यक्ष को जमा कराया। 

पढ़ें- अमित के जन्मदिन पर पिता ने लिखी ये कविता, दिया आशीर्वाद

लिहाजा, अब ये पूरी तरह साफ होता दिख रहा है कि महंत शायद इस दफा चुनाव नहीं लड़ेंगे। हालांकि, ये कांग्रेस में टिकट बंटवारा अनिश्चितताओं से भरा होता है, ऐसे में बिना फार्म जमा किये ही आलाकमान के निर्देश पर महंत को टिकट भी दी जा सकती है, लेकिन पार्टी ने टिकट बंटवारे का जो इस दफा प्रारूप तैयार किया था, उसके आधार पर आकलन करें तो यही मालूम हो रहा कि शायद डॉ. चरण दास महंत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। फार्म जमा नहीं कर महन्त ने कुछ ऐसे ही संकेत दिए हैं।  पिछली बार भी वो चुनाव नहीं लड़े थे, उस वक्त व नंदकुमार पटेल की हत्या के बाद कार्यकारी अध्यक्ष थे और उऩ्ही के नेतृत्व में कांग्रेस ने चुनाव लड़ा था। इधर जांजगीर-चाम्पा जिले की 6 विधानसभा सीटों की बात करें तो करीब 180 से ज्यादा दावेदारों ने अपने फार्म जमा कराये हैं। कमाल की बात ये है कि जिले का सक्ती एक विधानसभा ऐसा है, जहां 60 से ज्यादा दावेदारों ने अपने फार्म जमा कराये।

 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News