रायपुर News

राहुल ने चेताया- कांग्रेस में अब नहीं चलेंगे पैराशूट लैंडिंग वाले नेता, जमीनी कार्यकर्ताओं पर भरोसा

Created at - August 10, 2018, 5:47 pm
Modified at - August 10, 2018, 5:47 pm

रायपुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नए कार्यालय भवन का उद्घाटन किया। इस मौके पर आयोजित सभा में उन्होंने राफेल डील और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बात करते हुए केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने अपने संबोधन में कार्यकर्ताओं को यकीन दिलाया कि अब कांग्रेस में पैराशूट वाले नेता नहीं चलेंगे, बल्कि जमीन पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं की ही पूछपरख होगी।

उन्होंने छत्तीसगढ़ के कांग्रेसियों से कहा कि आपने ये भवन बनाया है। इसमें आपका खून है पसीना है। आप आने वाले समय में इससे भी बड़ा भवन बनाने वाले हो। छत्तीसगढ़ के युवा महिलाओं के सपने पूरे करने आप निकलोगे। जैसे आपने ये भवन बनाया वैसे ही आपसे भरोसा है कि छत्तीसगढ़ के किसान, युवा, महिला, दलित छोटे दुकानदारों के लिए काम करने वाले हो। छत्तीसगढ़ की जनता, किसान आपकी ओर देख रहा है और सवाल पूछ रहा है। भाजपा ने, रमन सिंह ने उन्हें धोखा दिया। किसान आपसे पूछ रहा है कि इन लोगों ने हमारे 15 साल बर्बाद किए अब कांग्रेस पार्टी हमारे लिए लड़ेगी।

उन्होंने कहा, जो हमारा मुख्यमंत्री बनेगा, अगर वो छत्तीसगढ़ के युवा, आदिवासी, किसान के हक की लड़ाई नहीं लड़ेगा तो मैं आपसे कह रहा हूं कि वह बतौर मुख्यमंत्री एक दिन भी नहीं रह पाएगा। ये पार्टी उद्योगपतियों की, राफेल की, पनामा पेपर्स की पार्टी नहीं है, छत्तीसगढ़ की, छत्तीसगढ़ के सपनों की पार्टी है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं की आदत बन गई है, पोलिंग बूथ पर खून-पसीना एक करते हो, मोदी के भ्रष्टाचार के बारे में बताते हो। लेकिन जब चुनाव का समय आता है तो आप आसमान देखते हो और पैराशूट से नेता आता है। लेकिन मैं अब सब पैराशूट काट दूंगा। कांग्रेस उन लोगों को विधानसभा में भेज्गी जिनके मन में छत्तीसगढ़ के आदिवासी, किसान और दलितों के लिए जगह है। चुन-चुन कर ऐसे  लोगों को विधानसभा में भेजेंगे। पैराशूट वाले नेता सुन लें कि अब उनका पैराशूट काम नहीं करेगा। इसलिए अब आप काम में लग जाइए। उन्होंने शक्ति प्रोजेक्ट के लिए कांग्रेस कार्यताओं को बधाई दी। शक्ति प्रोजेक्ट के बारे में उन्होंने कहा कि शक्ति प्रोग्राम का मतलब है कांग्रेस के कार्यकर्ता, कांग्रेस की शक्ति।

यह भी पढ़ें : चेकिंग के दौरान नहीं दिखाने पड़ेंगे डीएल और आरसी, मोबाइल से होगा काम

एक विधायक चुना जाता है, मुख्यमंत्री चुना जाता है। सभी निर्णय ये ही लेते हैं। बोर्ड निगम, अलग अलग जो पद होते हैं उनका निर्णय अब कांग्रेस कार्यकर्ता करेंगे, जो पोलिंग बूथ जीता कर दिखाएगा, वो लाइन में सबसे आगे खड़ा होगा, जो नहीं जिताएगा वो सबस पीछे, चाहे वह कितना भी बड़ा हो।

महिलाओं के संदर्भ में उन्होंने कहा कि ये पार्टी भाजपा जैसी पार्टी नहीं है। भाजपा का कंट्रोल रिमोट से होता है। भाजपा को आरएसएस चलाती है। जो मोहन भागवत जी चाहते हैं, छत्तीसगढ़ भाजपा वही करती है। कांग्रेस में ऐसा नहीं है। कांग्रेस को कार्यकर्ता चलाते हैं॥ महिलाओं से अपील की कि कांग्रेस ए जुड़िए। कांग्रेस को चलाइए।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति जब भारत आए तो उनसे पूछा, राफेल की डील में क्या ये लिखा था कि जनता को नहीं बताया जा सकता। इस पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने बताया कि सीक्रेट पैक्ट में विमान का दाम शामिल नहीं है। हिंदुस्तान की सरकार पूरे देश को राफेल विमान के दाम बता सकती है, फ्रांस की सरकार को कोई एतराज नहीं है। उन्होंने कहा, मैने रक्षा मंत्री को बोला कि आपने देश से झूठ क्यों बोला, लेकिन जवाब नहीं मिला। जब मैने नरेंद्र मोदीजी को बोला, वे आंख से आंख नहीं मिला पाए। आपने टीवी पर देखा, वे कभी इधर देख रहे थे कभी उधर देख रहे थे, क्यों, क्योंकि चौकीदार अब भागीदार हो गया। स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ा रक्षा घोटाला नरेंद्र मोदी ने किया।

उन्होंने एक समाचार चैनल की घटना का उल्लेख करते हुए कहा, चैनल ने कह दिया कि छत्तीसगढ़ के आदिवासी किसान की आमदनी दोगुनी नहीं हुई। मोदी के सामने महिला कहती है कि आमदनी दोगुनी हुई और कुछ दिन बाद उसी महिला ने कह दिया कि आमदनी दोगुनी होगई। उस पत्रकार को नौकरी से निकाल दिया गया। भ्रष्टाचार की बात उठती है लेकिन चौकीदार आंख से आंख नहीं मिलता। 540 करोड़ का विमान 1600 करोड़ में खरीद कर आते हैं। पूरा हिंदुस्तान जानता है, छत्तीसगढ़ जानता है कि मोदीजी ने अपने मित्र को एयरफोर्स का कॉन्ट्रैक्ट दिया है। मोदीजी मुझसे आंख मिलाए न मिलाएं, हिंदुस्तान का युवा, किसान और छोटा दुकानदार भी इस बात को समझता है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि नोटबंदी से मन नहीं भरा तो गब्बर सिंह टैक्स लगाकर आपकी जेब से पैसा निकाला। छत्तीसगढ़ के छोटे दुकानदारों को समझाना चाहता हूं कि आपकी जेब से जो पैसा निकाला गया वो देश के कई बड़े कारोबारियों 15-20 लोगों का कर्जा माफ करने में जा रहा है। मोदीजी ने ऐसे 15-20 सबसे बड़े उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया है।

यह भी पढ़ें : तीन तलाक बिल टला, विपक्ष के हंगामे के कारण राज्यसभा में नहीं हो सका पेश

उन्होंने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में, देश में किसान आत्महत्या करता है। अखबार में खबरें आती है। किसान पर दबाव डालकर बीमा का पैसा छीनते हैं, फायदा देने का वक्त आता है तो उन्हीं उद्योगपति मित्रों को दिया जाता है। ये है नरेंद्र मोदीजी की सरकार, ये है उनके अच्छे दिन।

वादा किया था कि हर साल 2 करोड़ युवाओं को नरेंद्र मोदी सरकार नौकरियां देगी। अब उनके मंत्री कहते हैं कि छोड़ो 15 लाख की बात की थी, जुमला था। पूरे देश को बेवकूफ बनाया। मंत्री खुल कर आपसे कहते हैं। रोजगार की बात न करो, पकौड़े बनाना सीखो।

कुछ ही दिन पहले नितिन गडकरीजी सवाल पूछते हैं कि रोजगार कहां है। गडकरीजी इसी लिए आपको सरकार में बिठाया था, आप सवाल न पूछे जवाब दो। देश के युवा को जवाब दो, देश के युवाओं से जो वादा किया था वो पूरा क्यों नहीं किया।

छत्तीसगढ़ में जो किसान आत्महत्या करता है, दलित आदिवासियों की जमीन छीनी जा रही है और नरेंद्र मोदीजी कुछ नहीं कह्ते हैं। यूपी में जब महिलाओं से बलात्कार होता है, महिलाओं से गैंगरेप होता है तो नरेंद्र मोदीजी के मुंह से एक शब्द क्यों नहीं निकलता। विधायक रेप करता है, बिहार में बच्चियों से रेप होता है तो मोदीजी जो कुछ क्यों नहीं कहते हैं। ये हर महिला पूछ रही है कि भाजपा के राज में वे घर से क्यों नहीं निकल सकती।

3000 साल में जो आज हिंदुस्तान में महिलाओं के साथ हो रहा है। मोदीजी के राज में, बिहार में बच्चियों से बलात्कार हो रहा है। यूपी में राजस्थान में  हो रहा है। मोदी जी कहते हैं कि 70 साल में नहीं हुआ वो उन्होंने कर दिखाया, नहीं मोदी जी आपने तो वह भी कर दिखाया है, जो 3000 साल में हिंदुस्तान में नहीं हुआ। 56 इंच की छाती वाला प्रधानमंत्री एक शब्द नहीं बोल पाता।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News