रायपुर News

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा- चुनावी तैयारी ठीक, अभी काफी काम बाकी, नागरिकों को मिलेगी ये सुविधाएं

Created at - September 1, 2018, 1:44 pm
Modified at - September 1, 2018, 1:46 pm

रायपुर। देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत ने कहा है कि दो दिन में हमने चुनाव से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया। छत्तीसगढ़ में चुनावी तैयारी ठीक, लेकिन अभी काफी काम करना है। रावत ने कहा हमने वोटरों के लिए एक एप तैयार किया है, जिसके माध्यम से वे चुनाव सम्बंधित समस्या या सुझाव भेज सकते है।

रावत ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि छत्तीसगढ़ में होने वाले दो दिवसीय समीक्षा बैठक के दौरान निर्वाचन आयोग ने राज्य के सभी राजनीतिक दलों की बातें सुनीं और उन्हें आयोग के दिशा-निर्देशों की जानकारी दी। आयोग ने यह भी बताया कि इस बार चुनाव के दौरान क्या नई सुविधाएं राजनीतिक दलों और नागरिकों-मतदाताओं के लिए दी जाएंगी।

आयोग ने इन दो दिनों में आयकर, आबकारी और पुलिस विभाग से चुनाव की तैयारियों को लेकर चर्चा की। आयोग ने राजनीतिक दलों को बताया कि इस बार के चुनाव में पहली बार एक्सेसिबिलिटी पर्यवेक्षक की नियुक्ति छत्तीसगढ़ में की जाएगी। वहीं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के एक पोलिंग बूथ का संचालन महिलाओं द्वारा होगा। साथ ही सी-विजिल एप की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके माध्यम से कोई भी नागरिक चुनाव संबंधी शिकायतें दर्ज करा सकेगा और इसका समयबद्ध तरीके से निराकरण किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : प्रधानमंत्री मोदी करेंगे पोस्ट पेमेंट्स की शुरुआत, बैंकिंग सेवाएं लोगों तक पहुंचाएंगे डाकिये

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि इसके अलावा छत्तीसगढ़ में वीवीपैट का उपयोग पहली बार किया जाएगा। आयोग ने सभी मतदान कर्मचारियों, सीएपीएफ और चुनाव कार्य में संलग्न पुलिस बल के कैशलेस उपचार के लिए राज्य सरकार को निर्देश दिए हैं। आयोग ने एक व्यापक मजबूत और विश्वसनीय सार्वजनिक शिकायत निवारण प्रणाली विकसित की है, ताकि किसी भी सदस्य जिसमें सभी राजनीतिक दल, उम्मीदवार, सिविल सोसाइटी के रखे गए चिंताओं, शिकायतों और सुझावों के लिए एक सार्वजनिक मंच दिया जा सके। वेबसाइट, ई-मेल, पत्र, फैक्स, एसएमएस, कॉलसेंटर(1950) आदि में से किसी के माध्यम से भी चुनाव संबंधित शिकायत दर्ज कराने के लिए नागरिकों को सुविधा दी जाएगी।

रावत ने बताया कि इसी तरह एकल विंडो अनुमति प्रणाली भी तैयार की गई है। इसमें 24 घंटों के भीतर चुनाव प्रचार से संबंहित अनुमति/मंजूरी देने के लिए एकल विंडो प्रणाली बनाई गई है। इसमें उम्मीदवार या राजनीतिक दल बैठकों, रैलियों, वाहनों, अस्थायी चुनाव कार्यालय, लाउडस्पीकर आदि की अनुमति के लिए एक ही स्थान पर आवेदन कर सकते हैं। हालांकि हेलिकॉप्टर उपयोग/लैंडिंग व हेलिपैड के उपयोग की अनुमति के विषय में आवेदन कम से कम 36 घंटे पहले जमा करना होगा।

यह भी पढ़ें : देह व्यापार के शक में टिकरापारा के एक घर में दबिश, पांच लड़कियों सहित 3 ग्राहक गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग इस बार छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में मोबाइल एप्स का भी प्रयोग करने जा रहा है। सीविजिल नामक यह मोबाइल एप राज्य में किसी भी व्यक्ति को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट करने की सुविधा देता है, जो चुनाव की घोषणा की तारीख से प्रभावी होकर मतदाम के एक दिन बाद तक चलता है। इस एप का उपयोग कर नागरिक चुनाव संबंधि किसी भी नियम के उल्लंघन की बिना रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय के चक्कर लगाए रिपोर्ट कर सकता है। सतर्क नागरिक आदर्श संहिता के उल्लंघन की फोटो ले सकते हैं और घटना का वीडियो रिकॉर्ड कर तुरंत यह फोटो/वीडियो एप के माध्यम से अपलोड कर सकते हैं। जीपीएस का उपओग कर एप खुद ही स्थान की मैपिंग कर लेगा। एप के माध्यम से सफल सबमिशन के बाद नागरिक को उसके मोबाइल पर फॉलोअप अपडेट ट्रैक करने के लिए एक यूनिक आईडी मिलेगी। पूरी प्रक्रिया के दौरान शिकायतकर्ता की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News