News

जेपी दत्ता की पलटन दमदार नहीं, लैला मजनू में दिखेंगी कश्मीर की वादियां

Created at - September 7, 2018, 7:14 pm
Modified at - September 7, 2018, 7:21 pm

इस शुक्रवार बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड फिल्म भी रिलीज हुई है। बॉलीवुड की बात की जाए तो जेपी दत्ता फिल्म पलटन और इम्तियाज अली की फिल्म लैला मजनू ने इस हफ्ते बॉक्स ऑफिस पर दस्तक दी है। वहीं, हॉलीवुड फिल्म 'द नन' जोकि एक हॉरर फिल्म है, रिलीज हुई है। 


पटलन की बात करें तो फिल्म में ढेर सारे कलाकार हैं जैकी श्रॉफ, अर्जुन रामपाल, गुरमित चौधरी, सोनू सूद, लव सिन्हा, सिद्धांत कपूर। फिल्म की कहानी 1965 के भारत और चीन युद्ध के बीच की बताई जा रही है, जब नाथुला LOC के पास भारत और तिब्बत को जोड़ने वाली सीमा जहां सिक्किम भी भारत से जुड़ता है, और चीनी सेना सिक्किम पर कब्जा करना चाहती है। और इसी सीमा को बचाने के लिए जब चीन और भारतीय सेना राजपूत रेजीमेंट के बीच युद्ध हुआ था।

उसी युद्ध की कहानी को पर्दे पर उतारा है जेपी दत्ता ने, फिल्म को असली लोकेशन पर शूट किया गया है जो देखने बहुत शानदार है, जो उसको उस दौर में लेकर जाएगा। फिल्म में अर्जुन रामपाल सोनू सूद और जैकी श्रॉफ का रोल अच्छा है। वहीं, एक्ट्रेस के लिए ज्यादा स्पेस नहीं है।

कमजोर कड़ी (पलटन)

फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी कहानी है और बेवजह जोड़े गए एक्शन सीन्स हैं। जो आपको बोर कर देंगे। फिल्म देखते वक्त आपको कुछ कमी खलेगी। सीधे शब्दों में कहा जाए तो दूसरी बॉर्डर बनाने के चक्कर में इस बार जेपी दत्ता फेल हो गए।

रेटिंग (पलटन) : 2.5/5
अब बात करते हैं इम्तियाज अली की फिल्म लैला मजनू की, जिसे उनके भाई साहिद अली ने डायरेक्ट किया है। जिसमें कैश यानी मजनू ( अविनाश तिवारी) और लैला (तृप्ति डिमरी) लीड रोल में हैं। दोनों नए कलाकार हैं।कश्मीर की हसीना वादियों में लैला और कैस भट का इश्क परवान चढ़ता है, लेकिन दोनों के परिवारों को उनकी मोहब्बत से ऐतराज है। यहीं से लैला और कैस की मुसीबतें शुरू हो जाती हैं। एक तरफ इनका प्यार है, तो दूसरी तरफ समाज और परिवार अब लैला के  प्यार में कैस भट कैस मजनू बन जाता है। 

एक्टिंग (लैला मजनू)
अविनाश ने मजनू का रोल अपने हिसाब से ठीक निभाया है, उन्होंने लैला के लिए अपना पागलपन और प्यार दिखाया है तो वहीं लैला का प्यार अधूरा सा लगता है। फिल्म का सैकेंड पार्ट काफी खिंचा हुआ है। फिल्म के गानें भी जुबान पर नहीं चढ़ते, कुल मिलाकर ये लैला मजनू आपका दिल नहीं जीत पाएंगे। अगल फिल्म में कश्मीर की खूबसूरत लोकेशन की बात की जाए तो वो सुंदर दृश्य आपके दिल में जगह बना लेगी भले आप फिल्म की कमजोर कहानी, क्लाइमैक्स देखकर रो पड़ेंगे।

रेटिंग (लैला मजनू) : 2/5

हॉलीवुड फिल्म 'द नन'

अब बात करते हैं हॉलीवुड की हॉरर फिल्म 'द नन' की, जिसमें एक बार फिर दर्शकों को डराने की कोशिश की गई है।  खौफनाक सीन और डरावनी आवाज से ये नन आपके रैंगटे खड़े कर देगी। आपका दिल जोर जोर से धड़केगा। द कनज्यूरिंग 2 की अगली सीरिज है। इस फिल्म की कहानी की शुरुआत 1952 में रोमानिया के सैंट कार्टा में एक ऐबी (ऐसी जगह जहां नन रहती हैं) से हुई थी। माना जाता है कि उस ऐबी के एक दरवाजे में शैतान रहता है। और उससे आगे गॉड का राज नहीं है। इसी वजह से आसपास के लोग उससे दूर रहते हैं। एक दिन एक नन उस दरवाजे के भीतर गई और शैतान के हाथों मारी गई, जबकि दूसरी नन ने शैतान से बचने के लिए पहले से की गई प्लानिंग के तहत फांसी लगा ली। उसमें एक पादरी फादर एंथनी बुर्के (डेमियन बिहिर) और एक नन सिस्टर इरीन (टेसा फार्मिगा) जिसने अभी तक शपथ नहीं ली, को रोमानिया भेजा। 

वे दोनों उस सब्जी वाले के साथ वहां जाते हैं। वहां इन दोनों के साथ अजीब-अजीब घटनाएं होती हैं, लेकिन हिम्मत नहीं हारते और उस रहस्यमय ऐबी से जुड़े रहस्य का खुलासा करने का फैसला करते हैं। क्या फादर और सिस्टर ऐबी के शैतान को काबू कर पाते हैं? आखिर उस ख़ौफनाक ऐबी का राज क्या है? इस ख़ौफनाक सवाल का जवाब आपको थिअटर जाकर ही मिल पाएगा। 

रेटिंग (द नन) 2/5

वेब डेस्कIBC24 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News